home page

NCR में बनने जा रहा नया एक्सप्रेस वे, रियल एस्टेट में आएगा उछाल

Faridabad-Jewar Expressway :एनसीआर में रहने वाले लोगों को बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है। दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और फरीदाबाद में रहने वाले लोगों का सफर आसान हो जाएगा। एक शहर से दूसरे शहर तक के सफर को आसान बनाने के लिए एक और नया एक्सप्रेसवे जुड़ने वाला है।
 | 
NCR में बनने जा रहा नया एक्सप्रेस वे, रियल एस्टेट में आएगा उछाल

Faridabad-Jewar Expressway : एनसीआर में रहने वाले लोगों को बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है। दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और फरीदाबाद में रहने वाले लोगों का सफर आसान हो जाएगा। एक शहर से दूसरे शहर तक के सफर को आसान बनाने के लिए एक और नया एक्सप्रेसवे जुड़ने वाला है। ऐसे में इन शहरों के बीच सफर करने वाले लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। इन बड़े शहरों के बीच का सफर 2 घंटे से घटकर करीबन 15 मिनट रह जाएगा। 

दिल्ली में बसने वाले लोगों को जेवर एयरपोर्ट बन जाने के बाद एक नया ऑप्शन मिल जाएगा। इसी वजह से सरकार इन दोनों शहरों की यात्रा को और तेज करने के लिए नए-नए एक्सप्रेस वे बना रही है। फरीदाबाद जेवर एक्सप्रेसवे से बल्लभगढ़ से जेवर एयरपोर्ट की दूरी को तय करने में मात्र 15 मिनट का समय लगेगा। फिलहाल इसमें करीबन 2 घंटे का समय लग जाता है। 

2414 करोड़ की आएगी लागत 

यह नया एक्सप्रेसवे बनाए जाने के बाद इन दोनों शहरों के बीच की दूरी 90 किलोमीटर से घटकर 31 किलोमीटर रह जाएगी। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण इसे शुरू कर चुका है और उन्होंने बताया कि 2414.67 करोड रुपए का खर्च आएगा। यह प्रोजेक्ट जून 2025 तक पूरा होने का अनुमान है। यह प्रोजेक्ट फरीदाबाद के सेक्टर 65 के पास से शुरू होकर जेवर एयरपोर्ट से सीधा जुड़ेगा। यह प्रोजेक्ट करीबन 31.425 किलोमीटर लंबा होगा जिसमें 22 किलोमीटर ऐसा हरियाणा में और बचा हुआ 9 किलोमीटर हिस्सा उत्तर प्रदेश में होगा। 

रियल एस्टेट में उछाल का अनुमान 

इस एक्सप्रेसवे के बन जाने के बाद कमर्शियल और इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट में तेजी आने का अनुमान लगाया जा रहा है। फरीदाबाद और गुड़गांव दोनों एयरपोर्ट से सीधा जुड़ पाएंगे। फरीदाबाद जेवर एक्सप्रेसवे बनने के बाद एक्सप्रेसवे के किनारे प्रॉपर्टी में तेजी आने का अनुमान है। जिससे कई गांवो को तगड़ा फायदा होगा। 

एक्सपर्ट की राय 

गॉड ग्रुप के सीएमडी मनोज गॉड ने बताया कि नया एक्सप्रेसवे बनने के बाद नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से दिल्ली के बीच की दूरी को कम किया जा सकता है। इस रोड पर आवासीय प्रोजेक्ट का भी काम चल रहा है। इस वजह से बिल्डर वायर और इन्वेस्टर के लिए संभावनाओं के नए द्वार खुले हैं। 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like