home page

अगर खाते में नहीं है एक भी पैसा, फिर भी निकाल सकेंगे अकाउंट से 10,000 रुपए

ओवरड्राफ्ट भी एक तरह का लोन होता है जिसको बैंक आपके लिए ऑफर करता है. हालांकि, इसकी खास बात तो यह है कि इसके लिए आपको बैंक जाकर फॉर्म भरने या इंजतार करने की जरूरत नहीं होती है. ओडी की सुविधा आपको तुरंत मिल जाती है.
 | 
अगर खाते में नहीं है एक भी पैसा, फिर भी निकाल सकेंगे अकाउंट से 10,000 रुपए

Saral Kisan (New Delhi) : अगर आप एक नया बैंक खाता खुलवाने जा रहे हैं तो यह जरूर पूछें कि क्या आपके खाते पर ओवरड्राफ्ट की फैसिलिटी मिल रही है. अगर आपका खाता पहले से है तो भी इस फैसिलिटी के बारे में आपने बैंक में जाकर पता करें. ओवरड्राफ्ट या ओडी की फैसिलिटी आपको कठिन समय में बड़ी काम आ सकती है. जिन लोगों के पास जनधन खाता है उन्हें भी यह सुविधा मिलती है. ओवरड्राफ्ट की सुविधा क्या होती है और कैसे मिलती है आज हम आपको इसी बारे में बताएंगे.

ओवरड्राफ्ट भी एक तरह का लोन होता है जिसको बैंक आपके लिए ऑफर करता है. हालांकि, इसकी खास बात तो यह है कि इसके लिए आपको बैंक जाकर फॉर्म भरने या इंजतार करने की जरूरत नहीं होती है. ओडी की सुविधा आपको तुरंत मिल जाती है. आप किसी भी एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं. हालांकि, यह पहले से तय होता है कि आपको कितने रुपये मिलेंगे.

क्या होता है ओडी का नियम, जानें

हर बैंकं ओडी की रकम अलग-अलग  तय कर सकता है. मसलन, अगर किसी के पास जनधन खाता है तो उसे ओडी के तहत 10,000 रुपये मिल सकते हैं. वह शख्स यह पैसा सीधे एटीएम से निकाल सकता है. ओवरड्राफ्ट के तहत पैसा लेने के लिए आपके अकाउंट में पैसा रखने की जरूरत नहीं है. अगर जनधन खाते वाले व्यक्ति के अकाउंट में बैलेंस शून्य है तो भी वह 10,000 रुपये निकाल सकता है. उसे फिर यह रकम ब्याज के साथ वापस लौटानी होती है. गौरतलब है कि ओडी केवल 10,000 रुपये का ही नहीं होता. कई बैंक इससे ज्यादा का भी ओडी अकाउंट देते हैं. लेकिन उन अकाउंट्स में आपको मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने का भी ध्यान रखना होगा.

कितना होगा ब्याज?

जनधन खाते पर मिलने वाले ओडी के लिए ब्याज 2 से 12 प्रतिशत तक का हो सकता है. यह अलग-अलग बैंकों पर निर्धारित करेगा लेकिन ब्याज 12 फीसदी से ऊपर नहीं होगा. अगर किसी बैंक की ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी 50,000 रुपये की है और ग्राहक ने उसमें से 10,000 रुपये निकाले हैं तो ब्याज केवल 10,000 रुपये पर ही लगेगा ना कि 50,000 पर. ओवरड्राफ्ट का इस्तेमाल किसी आपातकालीन स्थिति में ही करने की हिदायत दी जाती है.

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के इस शहर में एक और सड़क बनेगी फोरलेन, मंजूरी के बाद टेंडर जारी

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like