home page

वायु प्रदुषण बढने के साथ ही इस बिजनेस में हो रही तगड़ी कमाई, धड़ल्ले से बिक रही यह चीज

Delhi ncr pollution: इस सीजन के प्रदुषण ने लोगों का बहार निकलना दुश्वार कर दिया हैं। सांस लेने में भी मुश्किल हो रही हैं जिसके चलते बहार भीड कम हो गई हैं। लेकिन इसी प्रदुषण के चलते इस एक बिजनेस में जबरदस्त उछाल आया हैं आइए जानते हैं इसके बारे में...

 | 
With increasing air pollution, this business is making huge profits, this thing is being sold indiscriminately.

Saral Kisan : त्योहारी सीजन में दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) और मुंबई में जहरीली हवा ने बाजार को काफी प्रभावित किया है। कई स्थानों पर स्कूल बंद हैं। बाहर निकलना कम हो गया है। बार और रेस्तरां में आने वालों की संख्या में कमी आई है।

वहीं, ET की रिपोर्ट के अनुसार घरों और कारों के लिए मास्क और एयर प्यूरिफायर की बिक्री 70 से 100 प्रतिशत बढ़ी है। Light Bit Foods के CEO रोहित अग्रवाल ने बताया कि पिछले हफ्ते दिल्ली-एनसीआर में बिक्री में 25 प्रतिशत की गिरावट आई है। Agrawal का कहना है कि वह पिछले कुछ दिनों से एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (एक्यूआई) में भारी बढ़ोतरी के कारण घर से बाहर नहीं निकले हैं।

दिल्ली-एनसीआर में पिछले कुछ दिनों से एक्यूआई 400-500 के स्तर पर बना हुआ है, जो 'गंभीर' से ऊपर है। अंजन चटर्जी, स्पेशलिटी रेस्तरां के प्रबंध निदेशक हैं। वह कोलकाता में मैनलैंड चाइना और ओह! जैसे फाइन-डाइनिंग रेस्टोरेंट चेन संचालित करते हैं। उनका कहना है कि एयर पलूशन की वजह से लोग कम बाहर निकल रहे हैं। डिलीवरी से खाना ऑर्डर कर रहे हैं और हाउस पार्टियों में जाना पसंद कर रहे हैं।

प्रदूषण के कारण बढ़ी कमाई -

प्रदूषण की वजह से एयर प्यूरिफायर की बिक्री में इजाफा हो रहा है। क्लीन एयर सॉल्यूशन कंपनी निर्वाणा बीइंग ने सोमवार को कहा कि उसने माइक्रो-इलेक्ट्रोस्टैटिक प्रेसिपिटेटर एयर स्टरलाइज़िंग प्यूरीफायर पेश किया है जो एनर्जी इफिशन्सी भी प्रदान करता है। निर्वाण बीइंग के संस्थापक जय धर गुप्ता ने का कहना है कि MESP एयर स्टरलाइजिंग प्यूरीफायर इस दिवाली पोर्टेबल एयर प्यूरीफिकेशन में एक नया प्रतिमान है।

'एयर प्यूरीफायर पर लोग हुए निर्भर'

हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का कहना है कि मौजूदा क्रिकेट वर्ल्ड कप लोगों को पब में लाइव स्क्रीनिंग के लिए आकर्षित कर रहा है। खासकर भारत के मैच के दिनों में इसकी डिमांड ज्यादा रहती है। आईसीसी विश्व कप के मुख्य प्रायोजकों में से एक बीयर कैफे के संस्थापक राहुल सिंह का कहना है कि मॉल आधारित आउटलेट इसकी भरपाई कर रहे हैं, क्योंकि उपभोक्ता इस क्रिकेट और दिवाली सीजन के दौरान लाइव मैच देखना पसंद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वायु प्रदूषण के बिगड़ने के कारण बाहर लोगों की संख्या में कमी देखी गई है। परेशान लोग घरों और कारों के लिए एयर प्यूरीफायर पर निर्भर हैं, जिसकी मांग पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 70% तक बढ़ गई है।

होम और कार प्यूरिफायर की मांग -

डायरेक्ट सेलिंग कंपनी एमवे के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर अजय खन्ना का कहना है कि नवंबर के पहले हफ्ते में हम सेल्स में 16 पर्सेंट की बढ़ोतरी देख रहे हैं। हमारे होम प्यूरिफायर और कार प्यूरिफायर के रिप्लेसमेंट फिल्टर की बिक्री पिछले साल नवंबर की तुलना में इस साल नवंबर के पहले सप्ताह में 69 प्रतिशत बढ़ी है। रिटेलर्स एंड डिस्ट्रीब्यूटर्स केमिस्ट असोसिएशन के अध्यक्ष प्रसाद दानवे का कहना है कि मास्क की बिक्री जो पिछले एक साल में रुक गई थी, एक बार फिर बढ़ गई है। पिछले हफ्ते से दिल्ली-एनसीआर के कुछ इलाकों में इसकी बिक्री में बढ़ोतरी देखी गई है।

ये पढ़ें : Delhi NCR के रैपिडेक्स कॉरिडोर में बदलाव, अब होगा यह नया रूट

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like