home page

UP में इन 2 जिलों के फोरलेन की शुरुआत पर लगाई रोक, एक्सप्रेसवे की तरह बनेगा नया पथ

UP Khabar : एक्सप्रेस-वे की तरह रामवन गमन पथ बनाया जाएगा। शासन ने अयोध्या-प्रयागराज फोरलेन परियोजना को शुरू नहीं किया है। पहला फोरलेन पैकेज भुपियामऊ से कटका तक 45 किमी. तक बनाया जाना था।

 | 
UP में इन 2 जिलों के फोरलेन की शुरुआत पर लगाई रोक, एक्सप्रेसवे की तरह बनेगा नया पथ

Saral Kisan (UP News) : अब रामवन गमन पथ, जो प्रयागराज-उतरौला राष्ट्रीय राजमार्ग है, एक्सप्रेस-वे की तर्ज पर बनाया जाएगा। इससे अलग-अलग राज्यों से आकर चित्रकूट धाम में श्रीराम के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं को आसान होगा। शासन ने अयोध्या-प्रयागराज फोरलेन परियोजना पर रोक लगा दी है, जो पहले चरण में 45 किमी की दूरी तक बनाने के लिए 1290 करोड़ रुपये की धनराशि के साथ स्वीकृत की गई थी। 

शासन ने वित्तीय वर्ष 2022–2023 में अयोध्या से प्रयागराज तक रामवन गमन पथ को फोरलेन में बदलने की योजना बनाई। इसे किलोमीटर 53 से 144.6 तक फोरलेन में बदलने का लक्ष्य था। डीपीआर बनाने का काम दिल्ली की कंसल्टेंसी संस्था टीएएसपीएल को सौंप दिया गया था। भुपियामऊ से मलाका तक पहले से ही एक फोरलेन बनाया गया है। पहले पैकेज में कटका से भुपियामऊ की दूरी 53 किमी 98 थी। दूसरे चरण में कटका से अयोध्या विश्वविद्यालय तक 46 किमी की दूरी को शामिल किया गया था। भुपियामऊ से चिलबिला तक 6.5 किमी पर 350 मुआवजा और अहिमाने से घासीपुर तक 3.6 किमी पर 276 करोड़ मुआवजा वाले दो बाइपास भी शामिल थे। सड़क की चौड़ाई बस्ती के एक तरफ 34 मीटर और बस्ती से बाहर 45 मीटर थी। 

परियोजना की निर्माण प्रक्रिया फरवरी में शुरू होनी चाहिए थी।  महाराष्ट्र, बिहार, कनार्टका, तमिलनाडु, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड सहित कई राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए शासन ने वित्तीय वर्ष 2024-25 के तहत परियोजना की शुरुआत पर रोक लगा दी. राष्ट्रीय मार्ग निर्माण खंड सुलतानपुर को परियोजना को पूरा करने के लिए 1290 करोड़ रुपए की धनराशि आवंटित की गई थी। 

हालाँकि, प्रभारी मंत्री आशीष पटेल ने भी इसकी अनौपचारिक घोषणा की है। वर्तमान में, परियोजना को फोरलेन के स्थान पर छह से आठ लेन में विकसित करने की योजना बनाई जा रही है। ताकि अयोध्या से चित्रकूट धाम तक रामवन गमन मार्ग को सुगम बनाया जा सके, अभी कानून की घोषणा होनी बाकी है। 

रामवन गमन पथ छह से आठ लेन में विकसित हो सaकता है: CRo 

फोरलेन परियोजना की शुरुआत पर शासन ने नीतिगत रूप से रोक लगा दी है, मुख्य राजस्व अधिकारी देवेन्द्र सिंह ने बताया। रामायण सर्किट से जुड़ा हुआ पथ छह से आठ लेन का हो सकता है। लोनिवि राष्ट्रीय राजमार्ग खण्ड सुलतानपुर के अधिशासी अभियंता रजनीश गुप्ता ने बताया कि फोरलेन परियोजना पर रोक लगा दी गई है क्योंकि शासन ने धनराशि दी है। रामवन गमन मार्ग को एक्सप्रेस-वे बनाने की सरकारी घोषणा अभी होनी बाकी है। गाइड लाइनों का पालन किया जाएगा।

Also Read : उत्तर प्रदेश में अब 7 चरण में यहां बनेगी नई फिल्म सिटी, 230 एकड़ जमीन पर पर होगा पूरा प्रॉजेक्ट

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like