home page

Toll Booth Close : देशभर में बंद किए जाएंगे टोल प्लाजा, नितिन गडकरी ने दी ये बड़ी जानकारी

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने टोल वसूली को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि टोल सिस्टम लाना हमारी मजबूरी थी। सरकार के पास रिसोर्सेज की कमी है, लेकिन विदेशों में यही सिस्टम चल रहा है।
 | 
Toll Booth Close: Toll plazas will be closed across the country, Nitin Gadkari gave this big information

Saral Kisan ( नई दिल्ली ) केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने एक बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि अब राष्ट्रीय राजमार्गों पर 60 किलोमीटर के भीतर कोई टोल प्लाजा नहीं होगा। इसका मतलब है कि दो टोल प्लाजा के बीच कम से कम 60 किलोमीटर की दूरी होगी। यह उन लोगों के लिए बड़ी राहत होगी जो थोड़ी-थोड़ी दूरी पर मिलने वाले टोल प्लाजा से परेशान होते थे।

60 किमी के भीतर टोल नाके बंद होंगे

गडकरी ने कहा कि यह फैसला उन लोगों की शिकायतों को देखते हुए लिया गया है जो 60 किलोमीटर से कम दूरी पर दो टोल प्लाजा के बीच यात्रा करते थे। इससे उन्हें दो बार टोल देना पड़ता था। उन्होंने कहा कि यह व्यवस्था अगले तीन महीनों में लागू कर दी जाएगी।

गडकरी के इस फैसले का सड़क पर चलने वाले लोगों ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि इससे उनकी जेब पर थोड़ी राहत मिलेगी।

अच्छी सर्विस चाहिए तो इसके लिए पैसा चुकाना ही होगा

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने टोल वसूली को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि टोल सिस्टम लाना हमारी मजबूरी थी। सरकार के पास रिसोर्सेज की कमी है, लेकिन विदेशों में यही सिस्टम चल रहा है। अगर आपको अच्छी सर्विस चाहिए तो इसके लिए पैसा चुकाना ही होगा। टोल वसूली बंद नहीं हो सकती। कम या ज्यादा हो सकती है।

टोल वसूलने के लिए नया सिस्टम

गडकरी ने पत्रकारों से कहा कि टोल वसूलने के लिए नया सिस्टम ला रहे हैं। इसके तहत सैटेलाइट के जरिए ही आपके अकाउंट से पैसा कटेगा। खास बात यह है कि हाइवे पर जितने किलोमीटर आपकी गाड़ी चलेगी, उतना ही पैसा आपको चुकाना पड़ेगा। सड़क सुरक्षा को लेकर गडकरी ने कहा कि हमने बहुत काम किए, मगर सफलता नहीं मिली, यह सच्चाई है। हमने कानून बनाया, जुर्माना लगाया, लेकिन लोगों में कानून के प्रति डर नहीं है। जनता को ही जागरूक होना पड़ेगा।

सड़कों पर दो लाख करोड़ के काम

गडकरी ने कहा कि राजस्थान में 41 हजार करोड़ की लागत से तीन ग्रीन फील्ड हाईवे बना रहे हैं। दिल्ली जयपुर हाईवे का काम दिसंबर जनवरी तक पूरा हो जाएगा। प्रदेश में वर्तमान में दो लाख करोड़ के काम चल रहे हैं और भविष्य में करीब एक लाख करोड़ के काम और होंगे।

ये पढ़ें : UP News : 100 करोड़ की लागत से उत्तर प्रदेश के इस शहर में बनेगी 10 सड़कें, सफर होगा आसान

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like