home page

उत्तर प्रदेश में अयोध्या तक के हाईवे हो जाएंगे चकाचक, युद्ध स्तर चल रहे ये कई काम

UP, Ayodhya Mandir : उत्तर प्रदेश के अयोध्या में होने वाले भव्य कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए शहर के विभिन्न चौराहों से लेकर रायबरेली-अयोध्या हाईवे तक होर्डिंग लगवाने का कार्य कराया जा रहा है। पालिका की ओर से रायबरेली से अयोध्या कितनी दूर है.. इसके पोस्टर व होर्डिंग लगवा रहे है। नगर पालिका की ओर से सोमवार से रोड स्वीपिंग मशीन से मार्गों की साफ-सफाई करा दी गई। 200 सफाई कर्मियों की भी डयूटी लगाई गई है।
 | 
The highways up to Ayodhya in Uttar Pradesh will be completed, many of these works are going on war footing.

Saral Kisan : उत्तर प्रदेश के अयोध्या में 22 जनवरी को भगवान श्रीराम की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर न सिर्फ आवागमन व्यवस्था बेहतर बनाने का कार्य हो रहा है, बल्कि मार्गों को भी साफ-सुथरा बनाने की कोशिश की जा रही है। रायबरेली-अयोध्या हाईवे जाने वाला हर मार्ग चकाचक किया जाएगा। इसके लिए नगर पालिका की ओर से सोमवार से रोड स्वीपिंग मशीन से मार्गों की साफ-सफाई करा दी गई। 200 सफाई कर्मियों की भी डयूटी लगाई गई है।

उत्तर प्रदेश के लखनऊ-प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित रतापुर चौराहा से रायबरेली-अयोध्या हाईवे निकला है। शहर क्षेत्र के जितने भी मार्ग रायबरेली-अयोध्या हाईवे की ओर जाते हैं, उन मार्गों की पालिका ने साफ सुथरा कराने का निर्णय लिया है।

नियंत्रक अधिकारी स्वर्ण सिंह ने बताया कि सिविल लाइंस से मिल एरिया थाने तक, बस स्टेशन से कहारों का अड्डा होते हुए रतापुर चौराहा, त्रिपुला चौराहा से रतापुर तक लखनऊ-प्रयागराज हाईवे को रोड स्वीपिंग मशीन से साफ कराया जा रहा है, ताकि सड़कों पर धूल व कचरा बिल्कुल भी न रहे। इन सड़कों को साफ सुथरा करने के लिए 200 सफाई कर्मियों की डयूटी भी लगाई गई है, जो हर दिन साफ-सफाई का कार्य करेंगे।

सड़कों पर लगाए जा रहे पोस्टर व होर्डिंग

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में होने वाले भव्य कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए शहर के विभिन्न चौराहों से लेकर रायबरेली-अयोध्या हाईवे तक होर्डिंग लगवाने का कार्य कराया जा रहा है। पालिका की ओर से रायबरेली से अयोध्या कितनी दूर है.. इसके पोस्टर व होर्डिंग लगवा रहे है। इसके अलावा हिंदू संगठनों की ओर से भी शहर के विभिन्न चौराहों पर भगवान श्रीराम की होर्डिंगें लगवाई जा रही हैं। इनमें राम काजु किन्हें बिनु मोहि कहां विश्राम.. रामचरितमानस की चौपाई लिखी गई हैं।

ये पढ़ें : UP News : 100 करोड़ की लागत से उत्तर प्रदेश के इस शहर में बनेगी 10 सड़कें, सफर होगा आसान

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like