home page

Bihar के भागलपुर से इस शहर तक बिछाई जाएगी रेल लाइन, टेंडर प्रक्रिया शुरू

Bihar News : भारतीय रेलवे दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। भारत में बड़ी तेजी से रेलवे ट्रैक का निर्माण किया जा रहा है। रेलवे का सफर सुविधाजनक होने के साथ-साथ आपकी जेब के लिए भी राहत भरा है। बिहार के इन जिलों के बीच अब नई रेलवे लाइन बिछाई जाएगी। रेलवे की तरफ से इस लाइन के लिए डीपीआर भी तैयार कर ली गई है। 

 | 
Bihar के भागलपुर से इस शहर तक बिछाई जाएगी रेल लाइन, टेंडर प्रक्रिया शुरू

Bihar New Rail Line : बिहार की जनता के लिए बड़ी खुश कर देने वाली खबर सामने आई है। बिहार के इन जिलों के बीच नई रेल लाइन बिछाई जाएगी। लोकसभा चुनाव के मध्यनजर इसको मंजूरी नहीं मिली थी। भागलपुर बड़हरवा के बीच बिछाई जाने वाली नई रेल लाइन के लिए डीपीआर तैयार कर ली गई है। 

ये नया ट्रैक सबौर से गोनूधाम तक बनाया जाएगा। टेंडर प्रक्रिया के बाद तीसरी और चौथी रेललाइनों के लिए जमीन अधिग्रहण की जाएगी। इन लाईनों के लिए जमीन अधिग्रहण में लगभग सौ करोड़ रुपये खर्च होंगे। भागलपुर से बड़हरवा तक तीसरी और चौथी रेललाइन बिछाई जाएगी। भागलपुर से बड़हरवा तीसरी व चौथी रेलवे लाइन बिछाने का काम नई सरकार गठन के बाद चालू हो सकता है। अब चलते इस लाइन को मंजूरी मिलने की उम्मीद है।

लागत राशि 

बता दे की महगामा-पीरपैंती नई रेल लाइन भी जल्द ही टेंडर होने की उम्मीद है। टेंडर के लिए प्रक्रिया शुरू के दी गई हैं। इसका प्रचार किया गया है। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि बड़हरवा से भागलपुर तक 4879.63 करोड़ रुपये की लागत से तीसरी और चौथी रेललाइन बनाई जाएगी।

इस लाइन की डीपीआर स्वीकृत होने के बाद टेंडर प्रक्रिया जल्द शुरू भी होगी। टेंडर प्रक्रिया के बाद तीसरी और चौथी रेललाइनों के लिए जमीन अधिग्रहण की जाएगी। इन लाईनों के लिए जमीन अधिग्रहण में लगभग सौ करोड़ रुपये खर्च होंगे। उधर, महगामा से पीरपैंती के बीच एक रेलवे लाइन बनाने से तीसरा रूट बनेगा, जो गोड्डा-पीरपैंती नई रेलवे योजना का हिस्सा है। ट्रेनों को इस रूट पर बाढ़, दुर्घटना या अन्य आकस्मिक हालात में बदलकर चलाया जा सकता है।

इससे आक्समिक वातावरण में ट्रेनों का संचालन प्रभावित नहीं होगा। अधिकारियों के अनुसार मंदारहिल सेक्शन में भागलपुर स्टेशन से 10 किलोमीटर दूर गोनूधाम हाल्ट को जंक्शन बनाने की योजना फिलहाल ठंडे बस्ते में चली गई है। सबौर से जगदीशपुर के गोनूधाम के बीच एक रेल बाइपास बनाया जाना है, जो सिंग्ल रेलवे लाइन की तरह बनाया जाएगा।

नए ट्रैक की स्पीड

इस नए ट्रैक की स्पीड 160 km/h होनी चाहिए। नई रेल लाइन बनाने में 250 करोड़ रुपये खर्च होंगे। रेलवे बोर्ड को भेजे गए प्रस्ताव में कहा गया है कि वाई-लेग की तरह बनने वाले इस ट्रैक से सन्हौला, जगदीशपुर सहित आसपास के कई गांवों को फायदा मिलेगा। सबौर से गोनूधाम तक एक नया मार्ग बनाया जाएगा। वाई-लेग बनने पर गानूधाम जंक्शन स्टेशन बन जाएगा।

तीसरी-चौथी रेललाइन का टेंडर मंत्रालय से मंजूरी मिलने के बाद होगा, पूर्व रेलवे के डिप्टी चीफ इंजीनियर हेमंत कुमार ने बताया। महगामा से पीरपैंती के बीच एक रेलवे लाइन का टेंडर जारी किया गया है। भू-प्राप्ति की प्रक्रिया अभी भी जारी है। तीसरी रेललाइन का सर्वे जमालपुर से भागलपुर तक पूरा हो गया है। इसकी जांच की जा रही है।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like