home page

उत्तर प्रदेश में हजारों एकड़ जमीन पर बसेगा नया शहर, 162 गांवों की चमकने वाली है किस्मत

UP News : उत्तर प्रदेश में एक नया शहर बनाने का प्लान तैयार हो रहा है। यूपी में बनने वाले इस शहर से 162 गाँवो के लोगों की लॉटरी लगने वाली है। नए शहर बनाने के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है। 

 | 
उत्तर प्रदेश में हजारों एकड़ जमीन पर बसेगा नया शहर, 162 गांवों की चमकने वाली है किस्मत

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश में 162 गाँवो को शामिल कर नया शहर बनाया जाएगा। यूपी के ग्रेटर नोएडा के आसपास बसे गाँवो में रहने वाले लोगों की लॉटरी लगने वाली है। बता दे कि ग्रेटर नोएडा फेज-2 के तहत नया शहर बसाने की अधिसूचना जारी कर दी गई है। अब नया शहर बनाने के लिए अगला कदम उठाए जाने वाला है। न्यू शहर गंगा एक्सप्रेसवे और ईस्टर्न पेरीफेरल को छूता हुआ बनेगा। हापुड़ के पिलखुवा पर नया ग्रेटर नोएडा फेज -2 का बॉर्डर पर बनेगा। जमीन खरीदने के साथ ही नए शहर में हिस्सेदारी भी मिलेगी। इस नए निर्मित ग्रेटर नोएडा में 162 गाँवों की जमीन शामिल होगी है। नया शहर गंगा एक्सप्रेसवे और पूर्वी पेरीफेरल से छूता हुआ बनेगा। 

सात सर्किलों में विभाजित किया 162 गांवों को 

ध्यान दें कि फेज-दो ग्रेटर नोएडा परियोजना में 162 गांव शामिल हैं। यह अधिसूचना जारी होने के बाद इन गांवों में कोई अवैध निर्माण नहीं होगा। अवैध निर्माण पूरी तरह से प्रतिबंधित है। ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण ने परियोजना से संबंधित सूचना जारी करते हुए इन गांवों को अलग-अलग क्षेत्रों में विभाजित किया है। 162 गांवों को सात सर्किलों में विभाजित किया गया है। न्यू ग्रेटर नोएडा में आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध होंगी। जानकारी के अनुसार, नया ग्रेटर नोएडा 55 हजार हेक्टेयर में बनाया जाएगा। सिर्फ ये कहाँ जा रहा है नया शहर बसाने में 20 वर्ष लगेंगे। साथ ही, योजना को 2041 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। लेकिन मास्टर प्लान में कुछ बदलाव भी होंगे। 

आधुनिक सुविधा से होगा लैस 

उत्तर प्रदेश के न्यू ग्रेटर नोएडा के यातायात कनेक्टिविटी के लिए रेल कॉरिडोर, एयरपोर्ट, मेट्रो मेट्रो ट्रेन, एक्सप्रेसवे कनेक्ट होंगे। नए बचाने वाले इस शहर में सभी साधनों जैसे पब्लिक ट्रांसपोर्ट, इंफ्रास्ट्रक्चर, वाटर सप्लाई, ड्रेन सिस्टम वह अन्य सभी साधनों पर फूल जोर दिया जाएगा। प्राधिकरण ने अवैध निर्माण पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। बता दें कि 162 गांव को अलग-अलग सर्किल रेट के हिसाब से बाँटा गया है। बता दे की सात सर्किल रेट में 162 गांव को शामिल किया गया है।
 

वर्क  सर्किल गांवों की सूची   गांवों के नाम
1 19 छिंदौली, छौना, जैतवारपुर,  कूडीखेडा, चक सीदीपुर, आकलपुर जागीर, कहरी सूठरी, शेखपुर ठीचरा, बम्बावड, रघुनाथपुर, दीनानाथपुर पट्टी, अमाहपुर लौढा,  महावड,  डोमा टीकरी, निधावली, मसूरी,  इस्लामाबाद कल्दा, नगला उदयरामपुर, बिश्नूली
 
2 26 चक्रसेनपुर उपलारसी, औरंगाबाद, जारचा, कलौंदा, भराना, बेनीपुर, पिरविव्यानी, मुरादाबाद, छॉयसा, दयानगर, किशनपुर, नगला नैनसुख, लुहारली, बसन्तपुर बांगर, तिलबेगमपुर, भोगपुर, कमरैला चकसेनपुर, आनन्दपुर, खण्डेरा, विशनपुर, सपनावत, कोट, मिलक खण्डेरा, नूरपुर, नगला चमरू, राजारामपुर
 
3 22 महउद्दीनपुर/ गारवपुर, बढपुरा, सादीपुर छिडौली, चिटहेरा, कटहैरा, दादरी  बैरंगपुर उर्फ नई बस्ती, भटियाना, खटाना धीरखेडा, बिसाहडा, षाहपुर खुर्द, सीदीपुर, मंजकपुर, तमौलीपुर, पटाडी, रानौली लतीफपुर, दादूपुर खटाना, सलारपुर कलां, खगौडा, गुलावठी खुर्द, मुठ्यानी,  नगला किरावनी, 
 
4 20 मिलक खेडा, छौलस, सैंथली, वासतपुर, लालपुर, दौलतपुर टीकरी, रावली, भोवापुर, मुदापुर मुस्तफाबाद, जादोपुर, गौबरधनपुर, धौलाना, ककराना, लहरा, सौलाना,  प्यावली ताजपुर,  नन्दलालपुर, देहरा, इरादतपुर उर्फ राजतपुर, रसूलपुर डासना
 
5 28 फतेहपुर लडावास, सलौटा, बौडा कलां, मुरादपुर माजरा, गेसुपुर, लाठौर, कुरलीनरेना, मतनावली, नगला छज्जू नगला काशी, समाना, सुखदेवपुर, पारपा, इकलैडी, फूलपुर, अगवाना, भूडिया, भावा, कृपानगर उर्फ बीघेपुर,  छज्जूपुर, सिरोधन, दहोरपुर रज्कजापुर, सोहनपुर, भोगपुर, भनौटा, क्यामपुर, औरंगाबाद
6 21 मीरपुर माजरा, मुरसदपुर, नवादा, सादिकपुर, अकडौली, फाजिलपुर उर्फ मीरपुर, धरमपुर-15 बिस्वा, शहाबुदीन नगर, मिर्जापुर पट्टी, सालेपुर कोटला, मीरपुर खुदियाला, धरमपुर-5 बिस्या, हरसिंगपुर, ब्रजनाथपुर,  कुराना, बडौदा सिहानी, अब्दुल्लापुर मोडी, चचोई, डहाना, हाफिजपुर उबारपुर, लतीफपुर माजरा
7 26 इब्राहिमपुर तिसौली, हावल, कंडौला, नारायणपुर कास्का, सिवाया, करनपुर जादरी, नान, चन्दपुरा, रूठारी, आलमपुर, फिरोजपुर, कमालपुर, हिम्मत नगर,  करीमपुर भाईपुर,  आजमपुर, कन्डौली, मुकरमपुर उर्फ पिपनपुरा, मुबारिकपुर बदरगा, बौडा खुर्द,  देहपा, अहमदपुर-नयागांव, शाहपुर फगौना, कपूरपुर, नन्दपुर, पूठा हुसैनपुर, तुमरेलपुर गिरधरपुर तुमैक,

 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like