home page

उत्तर प्रदेश में आम के किसानों की बल्ले बल्ले, अब आंधी-तूफान और बरसात से नहीं होगा नुकसान

Good News For Mango Farmers : आपको बता दें कि आम के बागों में कुछ दिनों बाद बौर आना शुरू हो जाएगा। आम किसानों ने बागों को सिंचाई और साफ करना शुरू कर दिया है। आंधी तूफान और ओलों का सामना बौर आने से लेकर फसल बिकने तक करती है। जिससे आम की फसल खराब हो जाती है। पूरी जानकारी प्राप्त करें..।

 | 
Mango farmers in Uttar Pradesh are struggling, now there will be no loss due to storm and rain

Good News For Mango Farmers : अब प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बागवानों की फसल को भी सुरक्षित रखेगी, जो आम लोगों को खुशी देती है। आम की फसल भी फसल बीमा योजना में पहली बार जिला प्रशासन ने शामिल की है। अब बीमित फसल को कोई नुकसान होता है तो बीमा कंपनी किसानों को भुगतान करेगी।

गन्ने की फसल के लिए प्रसिद्ध जिले में आम भी खूब लहलहाता है। जिले में लगभग 9000 हेक्टेयर जमीन पर आम के बाग हैं। जिले में प्रमुख प्रजातियां बनारसी, चौसा और दशहरी आम हैं। इसके अलावा, कुछ बागों में रटौल और आमृपाली के पेड़ भी हैं।

PM फसल बीमा योजना से लाभ मिलेगा-

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पिछले कई वर्षों से चल रही है, लेकिन आम फसल इससे बाहर है। कितनी भी क्षति हो जाए, आम फसल को बीमा योजना से एक रुपया भी नहीं मिलता था। डीएम की अध्यक्षता में जिला स्तरीय मानीटरिंग कमेटी को किसी फसल को बीमा योजना में शामिल करने का अधिकार है।

इस कमेटी ने जिले की प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में भी आम की फसल को शामिल किया है। अब बीमित फसल को आंधी-तूफान या ओलावृष्टि से नुकसान होने पर बीमा कंपनी द्वारा भुगतान किया जाएगा।

सऊदी अरब करता है

जिले का अधिकांश हिस्सा सऊदी अरब तक जाता है। फसल को आम विदेश भेजने के लिए उच्च गुणवत्ता की आवश्यकता होती है, लेकिन अतिवर्षा भी फसल को नुकसान पहुंचाती है। अतिवर्षा इस बार आम की फसल को बर्बाद कर दी, जिससे फसल विदेश भेजने लायक नहीं बची।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में आम फसल शामिल है। बीमित फसल को नुकसान पहुँचने पर संबंधित कंपनी को क्षतिपूर्ति दी जाएगी। किसानों को आम की फसल बीमा की जानकारी दी जा रही है।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने जनता को दी सौगात, रोडवेज बसों में इन लोगों का नहीं लगेगा किराया

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like