home page

उत्तर प्रदेश के इस हाईवे के लिए जमीन अधिग्रहण हुआ शुरू, 2000 करोड़ को मिली मंजूरी

UP News : यूपी सरकार सड़क कनेक्टिविटी को बेहतर करने में तेजी से काम कर रही है। हाल ही में बलिया, सिकंदरपुर और गोरखपुर को बेल्थरारोड़ मार्ग से जोड़ा जाएगा। वास्तव में, इस राजमार्ग को बनाने के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 2000 करोड़ रुपये पहले चरण में पास किए गए हैं।
 | 
Land acquisition started for this highway of Uttar Pradesh, Rs 2000 crore approved

Saral Kisan : सरकार सड़कों को सुधारकर आवागमन को बढ़ा रही है। अब बलिया, सिकंदरपुर और बेल्थरारोड़ मार्ग गोरखपुर से जुड़ेंगे। फाजिलनगर से बलिया तक एनएच 727बी का निर्माण जल्द शुरू होगा।

NHAI पहले चरण के लिए केंद्र से 2000 करोड़ रुपये मिलने के बाद भूमि अधिग्रहण कार्य को तेज करने में लगी है। विभाग ने भूमि अधिग्रहण के दस्तावेजों को अंतिम रूप देते हुए संबंधित तहसीलों को प्रदान किया है। सिकंदरपुर के विभिन्न मौजों से 100,8380 हेक्टेयर जमीन मिलेगी। 707 किसानों से 71.0091 हेक्टेयर जमीन सरकार खरीदेगी। 29.8289 हेक्टेयर सरकारी जमीन है।

इसे जिले के बेल्थरारोड तहसील के उभांव तक फोरलेन और फिर सिकंदरपुर तक टू-लेन पेव्ड शोल्डर बनाने की योजना है। 10 मीटर चौड़ा होगा। वर्तमान में, लगभग 26 किलोमीटर लंबा यह राष्ट्रीय राजमार्ग सिर्फ सात मीटर चौड़ा है। इससे भी कम है कहीं-कहीं। साथ ही, विभाग फेज टू में सुखपुरा और खेजुरी जैसे व्यस्त बाजारों को क्षतिग्रस्त होने से बचाने के लिए उपाय खोज रहा है।

यह डीपीआर अभी नहीं बनाया गया है, लेकिन विभागीय अधिकारियों का कहना है कि अगले वित्तीय वर्ष में भी इसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा। भूमि अधिग्रहण मार्च-अप्रैल से शुरू होगा।

NHB 727B पर बेल्थरारोड से सिकंदरपुर तक जमीन अधिग्रहण का प्रस्ताव बनाया गया है। NHAI ने जो डीपीआर बनाया है, वह उसमें घनी आबादी वाले क्षेत्रों में स्थायी निर्माण को बचाने की कोशिश की गई है। देवेंद्र प्रताप सिंह, एडीएम फाइनेंस एवं विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने जनता को दी सौगात, रोडवेज बसों में इन लोगों का नहीं लगेगा किराया

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like