home page

Haryana News : इस जिले में नहरी पानी नहीं आने के कारण सूखा जोहड़, मछलियों और अन्य जीव मर रहे

Haryana News : हरियाणा के इस गांव में जोहड़ में पिछले कई दिनों से नहरी पानी नहीं आने के कारण जोहड़ का पानी सूख रहा है, जिससे मछलियां व अन्य जीव मर रहे हैं। विभाग के अधिकारियों को अवगत कराने के बाद भी इस ओर संज्ञान नहीं लेने से ग्रामीणों में रोष है।
 | 
Haryana News : इस जिले में नहरी पानी नहीं आने के कारण सूखा जोहड़, मछलियों और अन्य जीव मर रहे 

Saral Kisan, Haryana News : हरियाणा के इस गांव में जोहड़ में पिछले कई दिनों से नहरी पानी नहीं आने के कारण जोहड़ का पानी सूख रहा है, जिससे मछलियां व अन्य जीव मर रहे हैं। विभाग के अधिकारियों को अवगत कराने के बाद भी इस ओर संज्ञान नहीं लेने से ग्रामीणों में रोष है। शुक्रवार को ग्रामीणों ने जोहड़ के पास एकत्र होकर रोष जताया और प्रशासन से जोहड़ में नहरी पानी छोड़ने की मांग की तथा आंदोलन की चेतावनी दी।

पूर्व सरपंच राजेश सांगवान के नेतृत्व में एकत्र हुए ग्रामीण कृष्ण जांगड़ा, सुधीर ठेकेदार, अनिल, रविंद्र आदि ने बताया कि कई दिनों से झोझूकलां के डुंगराना जोहड़ में धरना चल रहा है। पानी सूख रहा है, जिससे हजारों मछलियां व अन्य जलीय जीव मर चुके हैं।  उन्होंने बताया कि गांव के संपन्न लोगों ने विभाग के जेंडर, एक्सईएन व प्रशासन के अन्य अधिकारियों से बात की है, लेकिन कोई भी पानी छोड़ने के लिए हां नहीं कर रहा है।

 लोहारू नहर में कई दिनों से नहर का पानी बह रहा है, लेकिन दादरी के जोहड़ में नहर का पानी छोड़ने की मांग ग्रामीणों ने उठाई, आंदोलन की चेतावनी नहरी पानी के अभाव में झोझू का जोहड़ सूख गया, मछलियां व अन्य जीव मर गए, ग्रामीणों में रोष नहर का पानी लोहारू जा रहा है झोड़नू कलां के पूर्व सरपंच राजेश सांगवान ने बताया कि नहर का पानी लोहारू जा रहा है और उनके जोड़ सूखने के बावजूद भी उन्हें पानी नहीं मिल रहा है। उन्होंने बताया कि उन्होंने विभाग व प्रशासन को अवगत करा दिया है, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई।  जिसके कारण वे बेबस हैं कलाली माइनर में पानी नहीं आ रहा है, जिसके कारण हजारों मछलियां और जीव-जंतु मर चुके हैं, जिसको लेकर सभी ग्रामीण चिंतित हैं।

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों ने जोहड़ के आसपास बड़ी संख्या में पोपल, बरगद और अन्य फलदार पौधे भी लगाए हैं। तालाब का पानी सूखने से जो पौधे मर रहे हैं विरोध प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे। राजेश सांगवान ने कहा कि वे सरकार से टकराव नहीं चाहते लेकिन गर्मी के मौसम में जीव-जंतु और पौधे मर रहे हैं, जिसके कारण उन्हें बड़ा आंदोलन करना पड़ेगा।

प्रशासन से अपील है कि जल्द ही जोहड़ में नहरी पानी छोड़ा जाए ताकि मछलियां और अन्य जीव-जंतु जीवित रह सकें और पेड़-पौधों को भी पानी मिल सके।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like