home page

Expressway: दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे के इस 78 किलोमीटर एरिया में भूलकर भी मत भगाना गाड़ी,

Delhi-Mumbai Expressway: तेज गति से चलाने वाले वाहनों पर नजर रखने के लिए और उन पर अंकुश लगाने के लिए मुंबई एक्सप्रेसवे पर आने व जाने वाले सड़क मार्गों पर 16 स्थानों पर कुल 80 कैमरे ओसीआर हाई स्टैंडर्ड के लगाए गए हैं।

 | 
Expressway: Do not drive your vehicle even by mistake in this 78 kilometer area of ​​Delhi Mumbai Expressway.

Saral Kisan : दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर निर्धारित 120 से ज्यादा स्पीड से दौड़ने वाले वाहनों पर अब ट्रैफिक पुलिस का शिकंजा कसेगा। एनएचएआई की ओर से एक्सप्रेसवे पर लगाए गए कैमरों को ट्रैफिक पुलिस के कंट्रोल रूप से जोड़ने की कवायद शुरू हो गई है। इसके जुड़ते ही तेज गति से चलने वाले वाहन मालिकों के घर ऑनलाइन चालान पहुंचेगा। एनएचएआई की ओर से मिले पत्र के बाद ट्रैफिक पुलिस ने आईजी ट्रैफिक से इसकी स्वीकृति ले ली है। इस एक्सप्रेसवे पर गुरुग्राम ट्रैफिक पुलिस ही पूरे हरियाणा की सीमा तक चालान का निपटारा करेगी।

डीसीपी ट्रैफिक विरेन्द्र विज ने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए मुंबई एक्सप्रेसवे पर वाहनों की अधिकतम सीमा 120 किलोमीटर प्रति घंटा निर्धारित की गई है, मगर ज्यादातर वाहन न चालक इस गति सीमा से भी अधिक अपने वाहनों को चला कर अपनी व दूसरे लोगों की जान को जोखिम में डालते हैं। इससे सड़क दुर्घटना की अधिक संभावना रहती है। तेज गति से चलाने वाले वाहनों पर नजर रखने के लिए और उन पर अंकुश लगाने के लिए मुंबई एक्सप्रेसवे पर आने व जाने वाले सड़क मार्गों पर 16 स्थानों पर कुल 80 कैमरे ओसीआर हाई स्टैंडर्ड के लगाए गए हैं।

मुंबई एक्सप्रेसवे पर ओवर स्पीड वाहनों का चालान करने के लिए इन कैमरों को दो से तीन दिन में ही एनआईसी के साथ जोड़कर चालान ऑनलाइन शुरू किये जाएंगे। हरियाणा के 78.8 किलोमीटर के एरिया में यह सभी 80 कैमरे 16 अलग-अलग स्थानों पर लगाए गए हैं। यातायात पुलिस आप सभी आमजन से निवेदन करती है कि निर्धारित स्पीड के अनुसार ही अपने वाहन को चलाएं और सुरक्षित सफर करके अपने गंतव्य स्थान तक सफर करें।

पिछले दिनों 249 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ती दिखी फेरारी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर लगे सीसीटीवी में पिछले दिनों के दौरान कई लग्जरी कार ओवरस्पीड से दौड़ते हुए कैद हुई हैं। इनमें पोर्स, फेरारी, बीएमडब्ल्यू, जगुआर और रोल्स रॉयस जैसी कारें शामिल हैं। कुबेर ग्रुप के मालिक विकास मालू भी अपनी एक महिला सहयोगी के साथ उस समय गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं, जब उनकी रोल्स रॉयस कार ओवर स्पीड में दौड़ रही थी। यह कार एक टैंकर से टकरा गई थी। इस हादसे में कार के जहां परखच्चे उड़ गए थे, वहीं टैंकर चालक की मौत हो गई थी। इन्हीं सब बातों का ध्यान रखते हुए अब एनएचएआई ने फर्रांटा भरने वालों पर लगाम कसने की योजना तैयार की है।

नौ माह माह में तेज गति से चलने वालों से 29 लाख का जुर्माना

यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए समय-समय पर यातायात पुलिस द्वारा ओवर स्पीड के चालान भी किए जा रहे हैं। इस तरह के ओवर स्पीड वाहनों के खिलाफ चालान अभियान आगे भी जारी रहेंगे। इस साल 9 माह में यातायात पुलिस की ओर ओवर स्पीड करने वाले 1445 वाहन मालिकों के खिलाफ चालान करके कुल 28.90 लाख रुपये का जुर्माना किया जा चुका है।

ट्रैफिक पुलिस की टीम की ओर से एनएचआईए के कंट्रोल रूम का सर्वे किया जा चुका है। जल्द ही दोनों साॅफ्टवेयर को आपस में जोड़ा जाएगा। कुछ तकनीकी कारणों से देर हो रह है। जिसे नेशनल हाईवे अथार्टी की ओर से दूर किया जा रहा है।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के अयोध्या से दिल्ली तक लगेंगे अब सिर्फ 75 मिनट, जनता की हुई मौज

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like