home page

उत्तर प्रदेश में इस वजह से बंद होगा डीएल ड्राइविंग पोर्टल, नहीं होगें ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित कोई काम

UP News : उत्तर प्रदेश में डायरेक्ट ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों के लिए बड़ी अपडेट सामने आई है। उत्तर प्रदेश में अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन नहीं हो सकेंगे। 

 | 
उत्तर प्रदेश में इस वजह से बंद होगा डीएल ड्राइविंग पोर्टल, नहीं होगें ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित कोई काम 

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश में ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर बड़ी खबर आई है। यूपी में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए दो दिन आवेदन नहीं हो सकेंगे। प्रदेश में परिवहन विभाग सारथी सॉफ्टवेयर मैं कुछ तकनीकी बदलाव किया जाएगा। इसी के चलते पोर्टल दो दिन बंद रहेगा. 

परिवहन विभाग का सारथी सॉफ्टवेयर पर मैनेजमेंट सिस्टम सॉफ्टवेयर का मिलान नहीं हो रहा है। ड्राइविंग लाइसेंस बन जाने पर आवेदक को लाइसेंस डाक से डिलीवरी नहीं हो रही है। परिवहन विभाग के साथी सॉफ्टवेयर में तकनीकी सुधार के लिए दो से 3 जून ड्राइविंग लाइसेंस संबंधी काम नहीं हो पाएंगे। 

50 हजार से 60 हजार लाइसेंस लंबित

प्रदेश के जिस भी आवेदक को तीन जून का समय मिला है उसे आवेदक को अगले दिन के स्टाल में अलॉट कर दिया जाएगा। नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सिस्टम यानी (एनआईसी) केएमस यानी का मैनेजमेंट सिस्टम सॉफ्टवेयर वर्जन 2 में बदलेगा, परिवहन विभाग के आईटी एके सिंह ने बताया। इसके परिणामस्वरूप, दो और तीन जून को डीएल से संबंधित कोई कार्य नहीं होगा। परिवहन विभाग ने बताया कि लगभग 50 हजार से 60 हजार लाइसेंस लंबित हैं। जो केएमएस को वर्जन 2 में बदलने के बाद जारी किए जाएंगे। पांच जून से ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित सभी प्रक्रियाएं वहीं संपन्न होंगी। 

जिन आवेदकों ने डीएल के लिए आवेदन किया है, उनके पास तीन जून का समय स्लॉट है। पांच जून को उन आवेदकों के खाते खोले जाएंगे। तीन जून के समय स्लॉट वाले सभी आवेदक पांच जून को आरटीओ कार्यालय में अपने ड्राइविंग लाइसेंस की जांच कर सकेंगे। सारथी फोर का संस्करण बदलने से डीएल प्रक्रिया में कोई परिवर्तन नहीं होगा।  

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like