home page

देहरादून-दिल्ली एक्सप्रेसवे पर फर्राटा भरेंगी गाड़िया, दिल्ली से देहरादून का सफर मात्र ढाई घंटे में

Dehradun-Delhi Expressway : दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेसवे का सपना जल्द ही पूरा होगा। NHAI ने जल्द ही एक्सप्रेसवे को पूरा करने की पूरी कोशिश की है। एलिवेटेड रोड का आठवां चरण पूरा हो गया है।
 | 
देहरादून-दिल्ली एक्सप्रेसवे पर फर्राटा भरेंगी गाड़िया, दिल्ली से देहरादून का सफर मात्र ढाई घंटे में

Saral Kisan (New Delhi) : शीघ्र ही देहरादून से दिल्ली का सपना पूरा हो जाएगा। दिल्ली-देहरादून राजमार्ग जल्द ही पूरा हो जाएगा। देहरादून से एक्सप्रेसवे का काम बहुत तेजी से पूरा हो गया है। दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेसवे, जो सहारनपुर के माध्यम से दिल्ली को देहरादून से जोड़ता है, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने बनाया है। एक्सप्रेसवे पूरा होने पर दिल्ली से देहरादून की यात्रा पांच घंटे से कम होकर लगभग ढाई घंटे होगी। इससे यात्रा का समय कम होगा और जाम नहीं होगा।

कम होगी दूरी

दिल्ली-देहरादून इकोनामिक कॉरिडोर का निर्माण कार्य तेजी से पूरा किया जा रहा है। 6 लेन कॉरिडोर दिल्ली से देहरादून की दूरी को 39 किलोमीटर कम करेगा। आज यह दूरी 249 किलोमीटर है। कॉरिडोर बनने से दूरी 210 किलोमीटर छोड़ी जाएगी।

ये शहर एक्सप्रेसवे से गुजरते हैं

दिल्ली-देहरादुन एक्सप्रेसवे दिल्ली के अक्षरधाम से शुरू होता है। यह शास्त्री पार्क से शुरू होकर खेकड़ा शामली, सहारनपुर, खजूरी खास, मंडोला बागपत और फिर देहरादून तक जाएगा। Expressway का निर्माण तीन चरणों में हुआ है। पहला हिस्सा अक्षरधाम और कुंडली पलवल एक्सप्रेसवे से जुड़ जाएगा। जिस पर मार्च 2024 तक यातायात शुरू होने की उम्मीद है। लगभग १८ किलोमीटर क्षेत्र एलिवेटेड है।

शास्त्री नगर से लोनी तक खुली सड़क

एलिवेटेड रोड दिल्ली के शास्त्री नगर से लोनी तक जाता है। यह एक्सप्रेसवे ईपीई क्रासिंग से अक्षरधाम तक पूरी दिल्ली में घनी आबादी से गुजरता है। ईस्टर्न पेरिफल एक्सप्रेसवे से जुड़ा दूसरा एलिवेटेड क्षेत्र मंडोला गांव है। दोनों क्षेत्र अब लगभग तैयार हैं।

यात्रा मार्च में शुरू हो सकती है

भूमिगत सड़क बनाना भी लगभग पूरी तरह से तैयार है। मार्च 2024 तक पहली बार यात्रा शुरू होगी. देहरादून से दिल्ली की दूरी छह घंटे से लगभग ढाई घंटे कम हो जाएगी, जबकि हरिद्वार से दिल्ली की दूरी दो घंटे से कम हो जाएगी। दिल्ली पहुंचने में ऋषिकेश से लगभग तीन घंटे लग सकते हैं। इस कॉरिडोर की एक विशेषता यह है कि यह एक्सप्रेसवे पर एशिया का सबसे लंबा वाइल्डलाइफ कॉरिडोर बन रहा है, जिसमें लोग नहीं होंगे। जब हाथी कॉरिडोर के नीचे से दौड़ते हैं, तो वे कॉरिडोर के ऊपर से भी दौड़ते हैं।

80 प्रतिशत एक्सप्रेसवे कार्य पूरा

दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेसवे पर परियोजना का अंतिम चरण, बारह किलोमीटर लंबी एलिवेटेड सड़क, लगभग 80 प्रतिशत पूरा हो चुका है। इस क्षेत्र में 9 किलोमीटर लंबी एलिवेटेड सड़क बनाई जा रही है। मार्च 2024 तक बाकी हिस्से पूरे होंगे।

11 चरण में काम चल रहा है

परियोजना निदेशक कार्यालय ने बताया कि एलिवेटेड रोड का काम अभी अंतिम पड़ाव पर है। देहरादून-दिल्ली एक्सप्रेसवे का निर्माण 213 किलोमीटर की दूरी पर 11 चरणों में होगा। यह प्राधिकरण के कई परियोजना कार्यालयों द्वारा संभाला जाता है। अलग-अलग पैकेज के अनुसार, परियोजना मार्च 2024 से नवंबर 2024 तक चलेगी।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के इस शहर में बनेगी खास डिजाइन से सड़कें, डमरू-त्रिशूल जैसे मॉडल बनेगी सड़कों की पहचान

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like