home page

Bihar में बिछाया जाएगा सड़कों का जाल, 2 लेन और 4 लेन हाईवे से इन शहरों का सफर होगा सुगम

Ministry of Highways : बिहार से पश्चिम बंगाल को जोड़ने वाली अमदाबाद-मनिहारी एनएच-131ए का दो लेन पेव्ड सोल्डर के साथ करीब 626 करोड़ की अनुमानित लागत से करीब 24 किमी लंबाई में निर्माण होगा. इन सभी के निर्माण की प्रक्रिया केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने शुरू कर दी है.
 | 
Road network will be laid in Bihar, travel to these cities will be easy with 2 lane and 4 lane highways.

Saral Kisan : केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय से अनुमति मिलने के बाद बिहार में तीन एनएच पर निर्माण इस साल शुरू होगा. इसमें हाजीपुर-बछवारा एनएच-122बी, अमदाबाद-मनिहारी एनएच-131ए और गया-बिहारशरीफ एनएच-120 पर एक आरओबी शामिल हैं. इन सभी के निर्माण की प्रक्रिया केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने शुरू कर दी है. इन सभी परियोजनाओं संबंधित इलाकों में आवागमन बेहतर करने के लिए परियोजनाओं का निर्माण शुरू करने की मांग पिछले कुछ साल से की जा रही थी.

सूत्रों के अनुसार हाजीपुर-बछवारा एनएच-122बी का दो लेन पेव्ड सोल्डर के साथ करीब 624 करोड़ की अनुमानित लागत से करीब 30 किमी लंबाई में निर्माण होगा. यह सड़क महनार और मोहिउद्दीननगर से होकर गुजरती है. फिलहाल इस सड़क की चौड़ाई कम है और इसके आसपास घनी आबादी वाला बड़ा इलाका है. इस सड़क से होकर समस्तीपुर, दरभंगा और बरौनी की तरफ जाने वाले वाहनों की संख्या अधिक होने से इसकी व्यस्तता अधिक है. इस कारण इसमें अक्सर जाम लग जाता है. इससे निजात दिलाने के लिए इस सड़क की चौड़ाई बढ़ाने की लंबे समय से मांग की जाती रही है. मंत्रालय ने इस सड़क के निर्माण एजेंसी के चयन के लिए टेंडर जारी कर दिया है. एजेंसी चयन का काम मार्च तक पूरा होने की संभावना है.

 मंत्रालय ने एजेंसी चयन के लिए टेंडर जारी किया

इसके साथ ही बिहार से पश्चिम बंगाल को जोड़ने वाली अमदाबाद-मनिहारी एनएच-131ए का दो लेन पेव्ड सोल्डर के साथ करीब 626 करोड़ की अनुमानित लागत से करीब 24 किमी लंबाई में निर्माण होगा. इस सड़क पर वाहनों के आवागमन की संख्या अधिक होने के कारण इस सड़क की चौड़ाई बढ़ाने की मांग पिछले कुछ सालों से हो रही थी. इस सड़क की चौड़ाई बढ़ाने की सहमति केंद्रीय मंत्रालय से मिल चुकी थी. अब मंत्रालय ने सड़क का निर्माण करने के लिए एजेंसी चयन के लिए टेंडर जारी कर दिया है. एजेंसी चयन का काम मार्च तक पूरा होने की संभावना है.

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने आरओबी बनाने की दी सहमति

गया-बिहारशरीफ एनएच-120 पर फोरलेन आरओबी बनेगा. इस सड़क की चौड़ाई भी बढ़ाई जा रही है. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने आरओबी बनाने की सहमति दे दी है और इसका डीपीआर बनाने वाली कंसल्टेंसी के चयन के लिए टेंडर जारी किया है. इस आरओबी का निर्माण इसी साल शुरू होने की संभावना है. इस आरओबी के बनने से गया-बिहारशरीफ एनएच पर जाम से मुक्ति मिलेगी. साथ ही आवागमन आसान होगा.

ये पढ़ें : UP News : 100 करोड़ की लागत से उत्तर प्रदेश के इस शहर में बनेगी 10 सड़कें, सफर होगा आसान

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like