home page

नागौर के वार्ड नंबर 53 में पाइपलाइन कार्य के चलते लोगों को आ रही पेयजल कमी की समस्या

नागौर के वार्ड नंबर 53 में पेयजल की पाइपलाइन का काम अधूरा होने के कारण वहां रहने वाले लोगों को पीने के पानी की कमी झेलनी पड़ रही है.
 | 
नागौर के वार्ड नंबर 53 में पाइपलाइन कार्य के चलते लोगों को आ रही पेयजल कमी की समस्या

Nagaur : नागौर में गर्मी की वजह से जहां लोगों के जनजीवन पर असर पड़ रहा है. वहीं अब भीषण गर्मी में पीने के पानी की समस्या से ज्यादातर लोग परेशान नजर आ रहे हैं. क्या गांव और क्या शहर हर जगह पेयजल की समस्या अब गर्मियों के दौरान तेजी से बढ़ रही है. प्री मानसून की बारिश न होने की वजह से नागौर ही नहीं बल्कि राजस्थान के कई शहरों में पेयजल की समस्या आ रही है.

पानी की समस्या के कारण लोग दूर-दूर तक भटक रहे हैं. शहर में जैसे ही पानी का टैंकर पहुंचता है लोग उसकी तरफ दौड़ लगा देते हैं. नागौर के वार्ड नंबर 53 में पेयजल की पाइपलाइन का काम अधूरा होने के कारण वहां रहने वाले लोगों को पीने के पानी की कमी झेलनी पड़ रही है. समस्याओं को ध्यान में रखते हुए जलदाय विभाग ने वार्ड में पानी का टैंकर भिजवाया.

जैसे ही टैंकर ने वार्ड में एंट्री ली. देखते ही देखते महिलाओं और बच्चों की भीड़ टैंकर के आसपास लग गई. भीड़ में सभी के पास पानी को भरने के लिए कोई ना कोई बर्तन हाथ में था. वार्ड नंबर 53 के निवासियों ने बताया कि विभाग की तरफ से पाइपलाइन बिछा दी गई है  परंतु केवल 15 फीट का काम बचा हुआ है.

वार्ड 52 में पेयजल की सप्लाई सुचारू

वहीं निवासियों के मुताबिक, वार्ड नंबर 52 में पेयजल की सप्लाई सुचारू रूप से हो रही है. दोनों वार्ड के बीच सिर्फ 15 फीट की सड़क का फासला है. अगर वार्ड नंबर 52 की पेयजल पाइपलाइन से वार्ड 53 की लाइन को अगर जोड़ दिया जाए तो इस पानी की समस्या से छुटकारा मिल सकता है. परंतु वार्ड नंबर 52 के कुछ लोग इस कार्य का विरोध जता रहे हैं. जिसके चलते पाइपलाइन के लिए खोदी गई खाई हादसों को निमंत्रण दे रही है.

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like