home page

Monsoon : तप रहें माहौल के बीच मानसून को लेकर आई गुड न्यूज़, राजस्थान में इस दिन बरसेंगे बादल

Rajasthan Mansoon :राजस्थान में गर्मी अपना प्रचंड रूप दिखा रही है, भट्टी की तरह तप रहे सारे शहर, कल से शुरू हो गया नौतपा आंकड़ों के अनुसार यह माना जाता है कि जितनी भीषण गर्मी पड़ती है, मानसून उतना ही ज्यादा सक्रिय रहता है।

 | 
Monsoon : तप रहें माहौल के बीच मानसून को लेकर आई गुड न्यूज़, राजस्थान में इस दिन बरसेंगे बादल

Rajasthan Mansoon, Saral Kisan : राजस्थान के शहर जयपुर में गर्मी अपना भीषण रूप दिखा रही है, सुबह 10:00 बजते ही शहर लगता है सुना सुना हो जाते हैं कर्फ्यू जैसे हालात है. इसी के साथ सूर्य  के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करने के साथ ही आज से नौतपा की शुरुआत हो चुकी है, मौसम विभाग के अनुसार यह नौतपा 2 जून तक रहेगा, लगातार 9 दिनों तक सूरज की किरणें  सीधी धरती पर पड़ेगी जिस कारण गर्मी बढ़ेगी। 

जितनी होगी गर्मी उतनी होगी बारिश 

अनुमान के अनुसार माना जाता है कि नौतपा जितने ज्यादा तपते हैं तो उस वर्ष बारिश भी अच्छी होती है। इस कारण से ही नौतपा को मानसून का गर्भकाल माना जाता है। इस साल 25 मई से 2 जून तक नौतपा रहेगा। इस नौतपा में सूर्य यदि तेज तपता है तो उस क्षेत्र में अच्छी वर्षा होती है और संवत भी अच्छा होता है।

तापमान 50 डिग्री पार, इस दिन आएगा मानसून

आकड़ों के अनुसार 2 जून तक नौतपा रहेगा , पश्चिमी और पूर्वी राजस्थान में मध्यम बारिश के आगामी दिनों में योग बन रहे हैं। ज्येष्ठ मास में सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है तो गर्मी बढ़ती है। रोहिणी नक्षत्र चंद्रमा का नक्षत्र है और सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करने से चंद्रमा की शीतलता कम हो जाती है। नतीजा 9 दिन भीषण गर्मी होती है। साथ ही इस अवधि में सूरज धरती के और भी करीब आ जाता है, जिससे भी धरती का तापमान बढ़ता है। 22 जून को ज्येष्ठ माह समाप्त होने के बाद गर्मी से राहत मिलेगी। तब सूर्य आद्रा नक्षत्र के प्रवेश करने से धरती पर बारिश की बूंदें गिरने लगेगी। इस वर्ष राजस्थान में 30 जून के आस-पास मानसून के आने की सभांवना है। इसी के साथ बारिश का सिलसिला शुरू हो जाएगा।

कुछ जगहों पर हल्की बारिश और आंधी

आंकड़ों में बताया की खगोल विज्ञान के अनुसार नौतपा में धरती पर सूर्य की किरणें सीधी लंबी पड़ती है। इन किरणों से तापमान ज्यादा बढ़ोतरी होती है। सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में आने का प्रभाव ज्योतिष गणना के अनुसार शनि की वक्री चाल के चलते नौतपा खूब तपेगा। चूंकि नौतपा के आखिरी दिनों के बाद मौसम बदलने से कुछ जगहों पर हल्की बारिश और आंधी चलने के पूरे अनुमान हैं।

नौतपा के बाद आंधी बारिश के योग

 ज्योतिष गणना के अनुसार शुरुआत में त्रिग्रही योग के वजह से सूर्यदेव की तपिश इस बार अन्य वर्ष के मुकाबले अधिक होगी रहेगी और तापमान भी कई रिकॉर्ड तोड़ेगा। विक्रम संवत के महीने ज्येष्ठ के शुरुआती चार से पांच दिनों में पारा 50 डिग्री तक पहुंचने के आसार है। इसके बाद आंधी, बारिश के योग रहेंगे। जिससे नौतपा खंडित होगा। वर्षाकाल में रोहिणी का वास संधि में रहने से खंडवृष्टि के योग रहेंगे। रोहिणी गलने के आसार जून के पहले दो दिनों में रहेंगे। इस दौरान आंधी चलने के साथ ही बूंदाबांदी होने के आसार हैं। रोहिणी का गलना भी कुछ जगहों पर असमानता दर्शाएगा। पश्चिमी और पूर्वी राजस्थान में मध्यम बारिश के योग बनेंगे। मानसून कमजोर नहीं रहेगा। हालांकि बीते छह साल के मुकाबले इस साल नौतपा ज्यादा प्रभावित आमजन को करेगा। 24 साल बाद नौतपा कला में गुरु और शुक्र ग्रह अस्त भी रहेंगे।

गर्मी मे ये रखे ध्यान 

सूरज की तपती किरणों से बचने के लिए अपना विशेष ख्याल रखें। अधिक से अधिक पानी पीए, जूस जैसे
पेय पदार्थों के साथ ही गर्मी के सीजन के फलों को सबसे ज्यादा काम में लें। औरतें ठंडी तासीर के लिए मेंहदी को ज्यादा से ज्यादा काम में लें

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like