home page

सरकार द्वारा किसानों के लिए नई योजना, डीजल पंप को सोलर पंप में बदलाकर घटाएं सिंचाई का खर्च

इस योजना से किसानों को खेत में सोलर पंप लगाने के लिए सब्सिडी दी जाती है. किसानों को दो हॉर्स पावर से पांच हार्स पावर के सोलर पंप पर 90% सब्सिडी दी जा रही है.
 | 
सरकार द्वारा किसानों के लिए नई योजना, डीजल पंप को सोलर पंप में बदलाकर घटाएं सिंचाई का खर्च

PM Kusum Yojana 2024 : खरीफ सीजन के दौरान किसानों को सबसे ज्यादा पानी की जरूरत बुवाई के लिए पड़ती है. बुवाई के समय गर्मी अपने चरम पर होती है. जिसके कारण बिजाई की हुई फसलों में भी पानी की बार-बार जरूरत पड़ती है. हरियाणा पंजाब और राजस्थान कपास की फसल की बिजाई हो चुकी है. तेज पड़ रही गर्मी से फसलों को बचाने के लिए किसानों को बार-बार पानी देना पड़ता है.

ऐसे में किसानों को पानी की कमी को पूरा करने के लिए बारिश का इंतजार करना पड़ता है. और अगर डीजल पंप से फसलों में पानी दिया जाए तो किसान किसानों को आर्थिक नुकसान होता है. ऐसी ही समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए सरकार ने एक नई योजना चलाई है. इस योजना से आप डीजल पंप को सोलर पंप में बदलकर फसलों में सिंचाई का खर्च घटा सकते हैं. इस बारे में हम आपको विस्तार से बताएंगे,

डीजल पंप से फसलों में सिंचाई का खर्च घटाने के लिए सरकार ने पीएम कुसुम सोलर सब्सिडी योजना शुरू की है. इस योजना से किसानों को खेत में सोलर पंप लगाने के लिए सब्सिडी दी जाती है. केंद्र सरकार पीएम कुसुम सोलर सब्सिडी योजना के द्वारा 35 लाख किसानों को सोलर पंप देने का लक्ष्य रखा हुआ है. जिसमें किसानों को दो हॉर्स पावर से पांच हार्स पावर के सोलर पंप पर 90% सब्सिडी दी जा रही है.

500 करोड रुपए का बजट

ऐसे में अगर आप किसान हैं तो इस योजना का फायदा उठा सकते हैं. जिससे आपका फसलों में सिंचाई का खर्च घट जाएगा. इस योजना के तहत 10 सालों में 17.5 लाख डीजल पंप और 3 करोड़ कृषि पंपों को सोलर में बदलने की योजना है. सरकार ने इसके लिए शुरुआती 500 करोड रुपए का बजट रखा हुआ है. इस योजना का लाभ देश का कोई भी किसान उठा सकता है. अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए आवेदन करना पड़ेगा. पीएम कुसुम योजना में रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन तरीका अपनाना पड़ता है.

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like