home page

उत्तर प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं को नोटिस देने के बाद होगा ये काम, पावर कारपोरेशन के नए निर्देश जारी

UP News : उत्तर प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं के लिए विद्युत भार के उपयोग को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन प्रबंधन ने बिजली उपभोक्ताओं को नोटिस देने के निर्देश जारी कर दिए है। 

 | 
उत्तर प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं को नोटिस देने के बाद होगा ये काम, पावर कारपोरेशन के नए निर्देश जारी 

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश में बिजली विभाग ने नए आदेश जारी किए हैं। यूपी पावर कार्पोरेशन प्रबंधन ने पास हुए भार से अधिक बिजली प्रयोग करने वाले उपभोक्ताओं के कनेक्शन पर अब लोड बढ़ाने के लिए नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं। उत्तर प्रदेश में पिछले तीन महीना से लगातार स्वीकृत भार से ज्यादा बिजली बाहर उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं के कनेक्शन में अब लोड बढ़ाने के लिए नए आदेश जारी कर दिए गए। बिजली उपभोक्ताओं को नोटिस जारी करने के बाद बिजली कनेक्शन के बाहर को ज्यादा बढ़ा सकती है. 

नोटिस होंगे जारी 

निदेशक वाणिज्य अमित कुमार श्रीवास्तव की तरफ से यह जानकारी सांझा की गई है। श्रीवास्तव का कहना है कि उपभोक्ताओं को 1 महीने का नोटिस देकर बिजली विभाग लोड संबंधित कार्रवाई भी करेगा। यूपी में बिना नोटिस के भार वृद्धि के मामले सामने आए थे। उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के प्रबंधन के उच्च अधिकारियों को बिना नोटिस के बिजली कनेक्शन लोड वृद्धि बिना नोटिस करने पर गंभीर आपत्ति जताई है।

उपभोक्ताओं के स्वीकृत भार से कम है बिजली वितरण के सिस्टम की क्षमता

अ‌वधेश वर्मा के अनुसार उत्तर प्रदेश के 3.45 करोड़ विद्युत उपभोक्ताओं को मार्च 2024 में 7.38 करोड़ किलोवाट का स्वीकृत भार था। पावर कारपोरेशन के 132 केवी विद्युत सब स्टेशनों की कुल क्षमता सिर्फ 5.86 करोड़ किलोवाट है। यही कारण है कि बिजली कंपनियों को पहले अपने सिस्टम की क्षमता बढ़ाना चाहिए था। बिजली कंपनियों का सिस्टम इस समय की भारी गर्मी में कांपने लग रहा है जब उपभोक्ता अपने स्वीकृत भार के बराबर बिजली का प्रयोग कर रहे हैं। जिस कारण से ग्राहकों को अच्छी बिजली नहीं मिल रही है। प्रबंधन ने पहले सिस्टम का  भार बढ़ा और फिर उपभोक्ताओं का भार बढ़ा।
 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like