home page

NCR की तर्ज पर बनेगा UP का ये शहर, उद्योगों के साथ होटल कारोबार में आएगा उछाल

NCR - हाल ही में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, इस शहर को एनसीआर की तरह उत्तर प्रदेश में डेवलेप किया जाएगा। इससे कई नए होटल खुल रहे हैं और इस उद्योग को लाभ हो रहा है। नीचे खबर में इस अपडेट से जुड़ी पूरी जानकारी देखें..

 | 
This city of UP will be built on the lines of NCR, there will be a boom in hotel business along with industries.

Saral Kisan News : गीडा में औद्योगिक विकास से होटल उद्योग भी मजबूत हो गया है। कई नए होटल खुल रहे हैं और इस उद्योग को लाभ हो रहा है। मुख्यमंत्री बृहस्पतिवार को गीडा सेक्टर 22 में एक तीन सितारा होटल का उद्घाटन भी करेंगे। वहीं, 15 दिसंबर को रामगढ़ताल के किनारे एक होटल का उद्घाटन होगा। इसके अलावा, शहर में चल रहे एक होटल में 80 कमरे का विस्तारीकरण और एक सेमिनार हॉल का विस्तारीकरण भी चल रहा है।

एक दशक पहले, शहर में केवल कुछ होटल थे। लेकिन ऐसा अब नहीं है। बड़े होटल रेलवे स्टेशन, शहर के भीतर और मेडिकल कॉलेज रोड, कसया रोड और रामगढ़ताल के किनारे बन रहे हैं। इनमें पांच और तीन सितारा होटल हैं। इन पांच सितारा और तीन सितारा होटलों के निर्माण की दो प्रमुख वजहें बताई गई हैं: गोरखपुर का विकास और इसके पूर्वांचल, बिहार और नेपाल के केंद्र बिंदु बनना।

चैंबर ऑफ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष आरएन सिंह ने बताया कि पहले बड़े उद्यमी या उनके प्रतिनिधि गोरखपुर आने से कतराते थे क्योंकि यहां पर्याप्त होटल नहीं थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है। लखनऊ और वाराणसी में कई सुविधायुक्त होटल बन गए हैं।

डॉ. इमरान अख्तर, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व पदाधिकारी, बताते हैं कि गोरखपुर में पहले डॉक्टरों के सेमिनार बहुत कम होते थे। बड़े शहरों में रहने वाले डॉक्टरों ने यहां नहीं आना चाहा। साथ ही, इस साल गोरखपुर के होटलों में कई बड़े डॉक्टरी सेमिनार आयोजित किए गए हैं। यहां भी होटलों की सुविधाएं किसी अन्य बड़े शहर की तरह हैं। इसके कारण लोग गोरखपुर आने लगे हैं।

गीडा में कई होटल खुल गए हैं; उद्योगों की स्थापना के साथ होटल कारोबार भी चमकने लगा है। कुलदीप नारायण राय, जो सेक्टर 22 में एक नया होटल बना रहे हैं, कहते हैं कि यहां कई छोटे होटल चल रहे हैं, लेकिन बड़ी कंपनियां आने पर उच्च स्तर के होटल भी बनेंगे। जब बड़ी कंपनियों के अफसर आते हैं, तो उनके जाने की व्यवस्था भी होनी चाहिए। उन कंपनियों की तरफ से अक्सर ही ट्रेनिंग सहित कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, जो उच्च श्रेणी वाले होटलों की आवश्यकता है। गीडा और आसपास के कई बड़े होटल भी जल्द ही खुलेंगे।

गीडा में औद्योगिक विकास से गोरखपुर के सभी होटलों पर लाभ होगा। क्योंकि होटलों की जरूरत होगी क्योंकि कंपनियों के मालिकों, मैनेजरों और अन्य अधिकारियों को रुकने, ट्रेनिंग लेने आदि की जरूरत होगी।

गोरखपुर में पर्यटन और औद्योगिक विकास का सबसे बड़ा प्रभाव होटल उद्योग पर पड़ रहा है। कोरोना वायरस के दौरान गीडा की कंपनियों ने ही होटल उद्योग को पहली बार सहायता दी। अब बड़ी कंपनियों के प्रतिनिधि, डॉक्टरों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की वजह से कारोबार चल रहा है। आने वाले समय में इसमें और सुधार होगा।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश में यहां तक बनेगा 16 किमी का नया एक्सप्रेसवे, बिछेगी रेलवे लाइन, लॉजिस्टिक वेयरहाऊसिंग, कार्गो के लिए फायदा

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like