home page

भारत के ये 10 नए एक्सप्रेस वे बदल देंगे तस्वीर, आसान हो जाएगा सफर

UP News : भारत में यातायात व्यवस्था को आधुनिक बनाने के लिए दिन प्रतिदिन चकाचक हाईवे का निर्माण देश में किया जा रहा है। लोगों का सफर आसान बनाने के लिए देश में बड़े प्रोजेक्ट पर काम चालू है। जिसके बाद लोगों का सफर आसान और तेज हो जायेगा। 

 | 
भारत के ये 10 नए एक्सप्रेस वे बदल देंगे तस्वीर, आसान हो जाएगा सफर

Upcoming Expressways : भारतमाला प्रोजेक्ट के शुरू होने के बाद देश में लोगों का सफर काफी आसान हो गया है। इस परियोजना के तहत 25 नए ग्रीनफील expressway बनाने का प्लान है। आज हम आपको देश 10 ऐसे एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट के बारे में बताने जा रहे है। जिसके बाद लोगों का सफर आसान और तेज हो जायेगा। 

दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे 

दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे करीमगंज साडे 1300 किलोमीटर लंबा है। इसे चार सेक्शन में बांटा गया है। इसका निर्माण करें अभी भी चल रहा है, लेकिन कहीं हिस्सों को खोल दिया गया है। इस एक्सप्रेसवे के शुरू हो जाने के बाद दिल्ली से मुंबई के बीच की दूरी मात्र 12 घंटे में तय की जा सके। यह देश के आठ बड़े राज्यों से होकर गुजरेगा। 

दिल्ली देहरादून एक्सप्रेसवे 

दिल्ली से देहरादून जाना अब आसान हो जाएगा। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर शहर से होकर गुजरने वाला यह एक्सप्रेस वे को एक्सेस कंट्रोल्ड बनाया जाएगा। दिल्ली से देहरादून के बीच की दूरी 239 किलोमीटर में लगने वाले समय को ढाई घंटे तक काम कर देगा। इस एक्सप्रेसवे से दिल्ली उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड कवर होगा। 

दिल्ली कटरा एक्सप्रेसवे 

सरकार ने बताया कि दिल्ली और कटरा के बीच की दूरी 669 किलोमीटर को तय करने वाली दिल्ली अमृतसर कटरा रेल लाइन के बीच का समय 6 घंटे रह जायेगा। यह एक्सप्रेसवे दिल्ली हरियाणा पंजाब जम्मू और कश्मीर से होकर गुजरेगा। 

कानपुर लखनऊ एक्सप्रेसवे 

कानपुर से लखनऊ जाने वाला यह एक्सप्रेस वे स्थानीय लोगों के लिए वरदान साबित होगा। इस एक्सप्रेसवे के द्वारा आप 63 किलोमीटर की दूरी आसानी से तय कर सकेंगे। बताया जा रहा है कि इस एक्सप्रेसवे के शुरू हो जाने के बाद इन शहरों के बीच की दूरी 30 मिनट घट जाएगी। 

वाराणसी कोलकाता एक्सप्रेसवे 

वाराणसी से कोलकाता जाने वाला यह एक्सप्रेसवे रांची से होकर गुजरेगा। इस एक्सप्रेसवे पर आप आसानी से 612 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे, जो एक्सेस कंट्रोल्ड कॉरिडोर होगा। अभी इस यात्रा को करने के लिए करीबन 15 घंटे लगते हैं जो घटकर 9 घंटे रह जाएंगे। यह एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के लोगों को फायदा पहुंचाएगा। 

अमृतसर जामनगर एक्सप्रेसवे 

इस एक्सप्रेसवे के शुरू हो जाने के बाद हरियाणा पंजाब राजस्थान और गुजरात के लोगों को तगड़ा फायदा होगा। यह एक्सप्रेसवे 917 किलोमीटर लंबा होगा जो बठिंडा से होकर गुजरेगा। इस एक्सप्रेसवे को एक्सेस कंट्रोल्ड बनाया गया है। जिससे यात्रा और भी आसान हो जाएगी। 

बेंगलुरु चेन्नई एक्सप्रेस वे 

इस एक्सप्रेसवे के बन जाने के बाद बेंगलुरु और चेन्नई के बीच का सफर आसान हो जाएगा। इस एक्सप्रेसवे से आप 262 किलोमीटर की दूरी तय आसानी से तय कर सकेंगे। सरकार ने बताया कि इन दोनों शहरों के बीच का समय घटकर 2 घंटे रह जाएगा। तमिलनाडु कर्नाटक और आंध्र प्रदेश को इस एक्सप्रेसवे से तगड़ा फायदा होगा। 

हैदराबाद विशाखपट्नम एक्सप्रेसवे 

यह एक्सप्रेसवे बनने के बाद तेलंगाना से आंध्र प्रदेश का सफर आसान हो जाएगा। हैदराबाद से विशाखापट्टनम जाने वाले इस एक्सप्रेसवे से आप 222 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे। 

सूरत सोलापुर एक्सप्रेसवे 

गुजरात से महाराष्ट्र तक जाने वाला यह एक्सप्रेस वे 730 किलोमीटर लंबा होगा। इस एक्सप्रेसवे को एक्सेस कंट्रोल बनाया जा रहा है। यह एक्सप्रेसवे शुरू हो जाने के बाद सूरत नासिक अहमद नगर सोलापुर आदि शहरों पर प्रवेश नियंत्रित करेगा। 

इंदौर हैदराबाद एक्सप्रेसवे 

इंदौर से हैदराबाद जाना अब आसान हो जाएगा। 525 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेसवे से आपका सफर आसान हो जाएगा। यह एक्सप्रेसवे मध्य प्रदेश महाराष्ट्र और तेलंगाना से होकर गुजरेगा। 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like