home page

उत्तर प्रदेश वालों की मौज यहां बिछेगी 52 किमी. की नई रेलवे लाइन, 958 करोड़ खर्च, मिल गई मंजूरी

UP News : आपको बता दें कि यूपी में यहां 52 किलोमीटर की नई रेलवे लाइन बिछाई जाएगी। इसी कड़ी में पूर्वोत्तर रेलवे को अब नई रेल लाइन आनन्दनगर-घुघली वाया महराजगंज को स्वीकृति मिली है। मिली जानकारी के मुताबिक आपको बता दें कि  यह नई रेल लाइन आनन्दनगर से महराजगंज होते हुए घुघली रेलवे स्टेशन जाएगी....
 | 
The people of Uttar Pradesh will enjoy here for 52 kms. New railway line, expenditure of Rs 958 crore, got approval

Saral Kisan : भारतीय रेलवे यात्रियों की सुविधाओं के साथ नए भारत के नए विजन को ध्यान में रखते हुए इन्फ्रास्ट्रक्चर के विस्तार और विकास पर तेजी से काम कर रहा है. इसी के तहत पूर्वोत्तर रेलवे पर भी अनेक आमान परिवर्तन, दोहरीकरण, तीसरी लाइन एवं नई लाइन निर्माण के काम किए जा रहे हैं.

इसी कड़ी में पूर्वोत्तर रेलवे को अब नई रेल लाइन आनन्दनगर-घुघली वाया महराजगंज को स्वीकृति मिली है. यह नई रेल लाइन आनन्दनगर से महराजगंज होते हुए घुघली रेलवे स्टेशन जाएगी. घुघली रेलवे स्टेशन गोरखपुर-वाल्मीकि नगर पर स्थित है. इस नई रेल लाइन की कुल लम्बाई 52.7 किमी है और स्वीकृत लागत 958.27 करोड़ रुपये है.

इन क्षेत्र के यात्रियों को होगा लाभ

ऐसा दावा है कि इस नई रेल लाइन के निर्माण से हिमालय के तराई क्षेत्र में स्थित महराजगंज जनपद का विकास होगा तथा कृषि बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण लघु कृषि उद्योग को भी बढ़ावा मिलेगा. यह रेल लाइन महराजगंज को भी बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करेगी. महराजगंज जिला महाराजगंज का मुख्यालय है. वर्तमान में नेपाल सीमा से जुड़ा महराजगंज नगर रेल हेड से जुड़ा हुआ नहीं है, इसलिए इस लाइन के बनने से उत्तर भारत से आने वाली ट्रेनों को वाल्मीकि नगर और रक्सौल होते हुए पूर्वोत्तर के राज्यों को एक वैकल्पिक मार्ग उपलब्ध होगा तथा गोरखपुर जंक्शन स्टेशन पर यातायात का दबाव कम होगा.

पूरी लाइन होंगी विद्युतीकृत

गौरतलब है कि ब्राडगेज की यह नई रेल लाइन विद्युतीकृत लाइन होगी. जिसका लाभ हिमालय की तलहटी में स्थित इस क्षेत्र के साथ-साथ पड़ोसी देश नेपाल के लोगों को भी मिलेगा. इसमें कुल 09 बड़े और 14 छोटे पुल बनाए जाएंगे. इस रेल लाइन के निर्माण के लिए 191.059 हेक्टेयर भूमि की जरूरत होगी, जिसके अधिग्रहण की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जाएगी. इसमें कुल 07 स्टेशन होंगे, जिसमें से आनन्दनगर, महराजगंज एवं घुघली क्रासिंग स्टेशन होंगे तथा 04 हॉल्ट स्टेशन बनाए जाएंगे.

अभी गोंडा से पनियहवा वाया आनन्दनगर, गोरखपुर, गोरखपुर कैंट, घुघली होते हुए कुल दूरी 307 किमी है. इस नई रेल लाइन के बनने से यह दूरी 265 किमी रह जाओगी. गोरखपुर के बाई पास हो जाने से यात्रा के समय में कमी आएगी.

यात्रा में सहूलियत

पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह ने बताया कि इस नए रेल लाइन के लिए धनराशि स्वीकृत हो चुकी है. इस नए रेल लाइन के बन जाने से गोरखपुर मंडल के रेल यात्रियों को बहुत फ़ायदा मिलेगा और यात्रा में सहूलियत भी मिलेगी. साथ हीमहाराजगंज जिला मुख्यालय को भी बहुत लाभ होगा.

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश में बनेगा 380 किमी. का नया एक्सप्रेसवे, 6 जिलों को होगा बड़ा फायदा

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like