home page

24 घंटे पानी के लिए 95 करोड़ खर्च, 25 मिनट भी नहीं मिल रहा जल

MP Khargon News : मध्य प्रदेश के इस शहर में भीषण गर्मी में भी घरों के नलों में नहीं पहुंच रहा पानी और जिन घरों में पानी पहुंच रहा है वह पहुंच रहा गंदा, पानी की समस्या को लेकर ग्रामीण परेशान, खरगोन में 25 घरों तक पानी पहुंच नहीं रहा और वहीं पर घरों में पानी पहुंच रहा है वहां प्रेशर कम है। 

 | 
24 घंटे पानी के लिए 95 करोड़ खर्च, 25 मिनट भी नहीं मिल रहा जल

Saral Kisan, MP Khargon News : दो लाख की आबादी वाले शहर को 24 घंटे पानी उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने 95 करोड़ रुपए खर्च कर दिए हैं। जल आवर्धन योजना के तहत किए जा रहे काम अब लगभग पूरे होने की बात कही जा रही है, जबकि मौजूदा स्थिति यह है कि शहर में 25 स्थानों पर पानी नहीं पहुंच रहा है। नपा ने इन स्थानों की सूची बनाकर निर्माण कंपनी जेएमसी को सौंप दी है। कई क्षेत्रों में मटमैला पानी आने की शिकायतें हैं। इनमें महापौर का वार्ड भी शामिल है। कई कॉलोनियों और मोहल्लों में लो प्रेशर की भी समस्या है। गौरतलब है कि वर्ष 2017 में शहरवासियों को पर्याप्त पेयजल उपलब्ध कराने के लिए जल आवर्धन योजना के तहत काम शुरू किया गया था। इस योजना का काम वर्ष 2019 में पूरा होना था, लेकिन सात साल बाद भी काम शत-प्रतिशत पूरा नहीं हो पाया है।  हालात यह है कि वर्तमान में भी 22 साल पुरानी व्यवस्था के अनुसार प्रतिदिन करीब 45 मिनट ही पेयजल वितरित हो रहा है। 

95 करोड़ रुपए खर्च होने के बाद भी शहरवासियों को प्रतिदिन 25 मिनट भी नियमित पानी नहीं मिल पा रहा है। वहीं नई पाइप लाइन के साथ लगाए गए 9 करोड़ 20 लाख रुपए के मीटर बेकार साबित हो रहे हैं। वर्तमान नगर पालिका अध्यक्ष छाया जोशी वार्ड क्रमांक 30 से पार्षद हैं। उनके वार्ड में रेवेन्यू कॉलोनी समेत क्षेत्र में नलों से गंदा पानी आ रहा है। रहवासियों ने बताया कि भीषण गर्मी के चलते जहां स्वास्थ्य विभाग साफ पानी पीने की एडवाइजरी जारी कर रहा है, वहीं नगर निगम खुद मटमैला पानी वितरित कर रहा है। न्यू नूतन नगर में भी रहवासियों ने नलों से गंदा पानी आने की शिकायत की है। 

23 हजार मीटर अनुपयोगी

शहर में कुल 28 हजार नल कनेक्शन हैं।  वहीं जल संरक्षण योजना के तहत बिछाई गई नई पाइप लाइन में 23 हजार कनेक्शन वाले मीटर लगाए गए हैं। ये मीटर 24 घंटे जल वितरण की योजना के चलते लगाए गए थे, जो अनुपयोगी हैं।

यहां कम प्रेशर की शिकायत

शहर की विश्वसखा कॉलोनी, पठानवाड़ी, संजय नगर, सीता विहार, कुंडा नगर, श्रीनाथ कॉलोनी, मोतीपुरा चार रास्ता, अवनी ग्राम, ऑफिसर कॉलोनी, गावशिंदे कॉलोनी, विष्णुपुरी, जैतापुर, सराफा बाजार, पोस्ट ऑफिस, कुम्हारवाड़ा, दामखेड़ा कॉलोनी, भाड़ली, बिस्टान रोड, शास्त्री नगर, चौहान की बाड़ी, संजय नगर और लक्खूश नगर में या तो पानी पहुंच ही नहीं रहा है, या बहुत कम मात्रा में आ रहा है। इसके साथ ही कई अन्य जगहों पर भी कम प्रेशर की समस्या है। अंजुमन नगर में कम प्रेशर से रहवासी परेशान हैं। नगर निगम कार्यालय में भी शिकायत की गई है।

25 फीसदी पुरानी पाइप लाइन

शहर में 12 मई को जल संरक्षण योजना की शुरुआत की गई थी  2017. यह योजना वर्ष 2019 में पूरी होनी थी, लेकिन पूरी नहीं हो सकी। शहर के 25 प्रतिशत क्षेत्र में 40 साल पुरानी पाइप लाइन हैं।

कंपनी को सौंपी सूची, जल्द होगा सुधार

पेयजल व्यवस्था सुधारने के लिए प्राप्त शिकायतों के निराकरण के लिए जेएमसी कंपनी को सूची सौंपी गई है। जिसमें अधिकांश शिकायतें नलों में पानी न आने और प्रेशर की समस्या की हैं। इसका निराकरण करवा रहे हैं। 

कई स्थानों से मटमैला पानी वितरित होने की शिकायतें आ रही हैं। पहले भी निर्माण कंपनी जेएमसी को अवगत कराया गया था। अब जिम्मेदार लोगों से बात कर सुधार के निर्देश दिए जाएंगे। 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like