home page

Haryana में चुनावी मौसम के बाद सस्‍ता होगा रोडवेज का सफर, बेड़े में शामिल की जाएगी नई इलेक्ट्रिक बसें

Haryana News : हरियाणा में लोकसभा चुनावी मौसम जारी है। हरियाणा रोडवेज में सफर करने वालों के लिए लोकसभा चुनाव के बाद बड़ी खुशखबरी सामने आई है। हरियाणा में लोकसभा चुनाव के बाद सफर करना सस्ता हो जाएगा। 
 
 | 
Haryana में चुनावी मौसम के बाद सस्‍ता होगा रोडवेज का सफर, बेड़े में शामिल की जाएगी नई इलेक्ट्रिक बसें

Haryana News : हरियाणा में बस में सफर करने वालों को लोकसभा चुनाव के बाद बड़ी सौगात मिलने वाली है। हरियाणा विधानसभा चुनावों के बाद रोडवेज बेड़े में 45 नई इलेक्ट्रिक बसों की आपूर्ति होगी। Electric City Bus Service का स्थायी स्थान पुराना बस स्टैंड होगा। यहाँ चार्जिंग स्टेशन बनाया जा रहा है। यह लगभग सात करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला अत्याधुनिक चार्जिंग स्टेशन होगा, जिसमें एक स्टैंड भी होगा। जिन स्थानों से लोग इन बसों पर सवार होकर सफर तय करेंगे। 

इलेक्ट्रिक बस लोगों को बहुत पसंद आ रही हैं। पानीपत में हर दिन पांच इलेक्ट्रिक बसों में साढ़े छह से सात हजार लोग चले जाते हैं। पानीपत डिपो में आचार संहिता के बाद 45 नई बसें शामिल होंगी, क्योंकि इलेक्ट्रिक बसों की अच्छी प्रतिक्रिया हुई है।

लोगों को पसंद इन बसों में सफर करना 

इलेक्ट्रिक बसों का सफर लोगों को बहुत पसंद आ रहा है। पानीपत डिपो से हर दिन 5 बस संचालित की जाती हैं। इन बसों में हर दिन 6500 से 7000 लोग सफर तय करते हैं। मिली नहीं जानकारी के अनुसार पानीपत डिपो में आचार संहिता खत्म होते ही 45 नई बसें की बसों होंगी।  फिलहाल, वर्तमान बसें पानीपत के नए बस अड्डे से टोल प्लाजा तक चलती हैं। इन बसों का उद्घाटन 28 जनवरी 2024 को हुआ था। इस बस में अधिकांश यात्री सफर करना पसंद करते हैं। इन बसों से पानीपत डिपो को दो महीने में करीब 40 लाख रुपये की कमाई हुई है।

अगस्त के पहले सप्ताह तक तैयार 

Electric City Bus Service का स्थायी स्थान पुराना बस स्टैंड होगा। यहाँ चार्जिंग स्टेशन बनाया जा रहा है। यह लगभग सात करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला अत्याधुनिक चार्जिंग स्टेशन होगा, जिसमें एक स्टैंड भी होगा। जिन स्थानों से लोग इन बसों पर सवार होंगे इस चार्जिंग स्टेशन का निर्माण के लिए अप्रैल में टेंडर किया गया था। डेडलाइन के अनुसार, अगस्त के पहले सप्ताह तक तैयार हो जाएगा। इलेक्ट्रिक बसों की संख्या बढ़ने पर वे 40 किलोमीटर की दूरी पर चलेंगे। इन बसों से यात्री पानीपत से समालखा, इसराना, मतलौडा और गोहाना तक भी जा सकते हैं।

गति सीमा लिमिट तय 

बता दें कि इन बसों की गति सीमा लिमिट में रखी गई है. इन बसों को 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ज्यादा चलने पर कंट्रोल रूम में इसका पता चल जाएगा. तेज गति पर बस चलाने के बाद चालक को इसका जवाब देना पड़ेगा.
 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like