home page

UPI चलाने वालों को RBI ने दिया बड़ा अपडेट, अब यूपीआई ट्रांजेक्शन होगी आसान

RBI New Feature : आज की डिजिटल समय में पैसों का लेनदेन यूपी के जरिए बड़े स्तर पर किया जाता है। साल 2022 में यूपीआई लाइट को शुरू कर दिया गया था। यूपीए के माध्यम से पैसों को लेनदेन आसान बनाने के लिए इस इसे लॉन्च किया गया था। 

 | 
UPI चलाने वालों को RBI ने दिया बड़ा अपडेट, अब यूपीआई ट्रांजेक्शन होगी आसान 

Reserve Bank Of India : देश में UPI लेनदेन करने वालों के लिए बड़ी अपडेट सामने आई है। यूपीआई लाइट को ऑनलाइन पैसों की लेनदेन के लिए आसान बनाने के लिए लॉन्च किया गया था। इसके जरिए आप बड़ी आसानी से UPI ट्रांजैक्शन कर सकते हैं। देश में यूपीआई चलाने वालों के लिए आरबीआई ने MPC मीटिंग में बड़ा ऐलान कर दिया है। भारतीय रिजर्व बैंक फिलहाल रेपो रेट में कोई बदलाव करने के मूड में नहीं है। रेपो रेट में कोई बदलाव न होने से अब महंगे लोन से राहत नहीं मिलने वाली है।

यूपीआई ट्रांजेक्शन होगा आसान 

इसकी मदद से आप यूपीआई ट्रांजेक्शन कर सकते हैं। जो पिन और अन्य विवरण भरने की जरूरत नहीं होगी। आप यूपीआई लाइट का उपयोग करके कम समय में भी भुगतान कर सकते हैं। एक और नई सुविधा अब इसे आसान बनाने वाली है। RBI ने UPI को बढ़ावा देने के लिए इसमें कई बदलाव घोषित किए हैं। रिजर्व बैंक ने बताया कि इसे ई-मैंडेट के तहत लाने की योजना है। इससे ग्राहकों को नई सुविधाएं मिलेंगी और ट्रांजैक्शन आसान हो जाएगा। आरबीआई ने कहा कि एक ऑटोमैटिक सुविधा को शामिल करने का विचार है। इसके परिणामस्वरूप, अगर किसी व्यक्ति के पास निर्धारित सीमा से कम बैलेंस है, तो वह यूपीआई लाइट वॉलेट में ऑटेमैटिक पैसे भर सकता है। 

वॉलेट को ऑटो-रिप्लेनिशमेंट सुविधा

भारतीय रिजर्व बैंक ई-मैंडेट फ्रेमवर्क के तहत UPi Light वॉलेट को ऑटो-रिप्लेनिशमेंट सुविधा देने जा रहा है। ग्राहकों को अपने यूपीआई लाइट वॉलेट में बैलेंस की सीमा से कम होने पर यह नई सुविधा स्वचालित रूप से रीलोड करने की सुविधा मिलेगी। UPI लाइट वॉलेट कस् टमर्स को वर्तमान में ₹2000 तक लोड करने और ₹500 तक प्रति लेनदेन करने की अनुमति मिलती है।

नए ऑटो-रिप्लेनिशमेंट फीचर से, यूजर्स को हर बार बैलेंस कम होने पर अपने वॉलेट को मैन्युअल रूप से रीलोड नहीं करना पड़ेगा। पेमेंट करना आसान हो जाएगा क्योंकि यह ऑटोमैटिक रूप से उनके बैंक खाते से टॉप अप होगा। भारतीय रिजर्व बैंक ने बताया कि यह फीचर सकारात्मक प्रतिक्रियाओं के आधार पर बनाया गया है। इसका लक्ष्य यूपीआई लाइट को अधिक आसान बनाना है।  
 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like