home page

Rajasthan News: राजस्थान की मंडरायल घाटी बेखौफ घूमता हुआ नजर आया तेंदुआ, जनता परेशान

Rajsthan News : राजस्थान में भीषण गर्मी से लोगों के साथ-साथ जानवरों का भी बुरा हाल है। राजस्थान के मंडरायल की घाटी की मुख्य सड़क पर बेखौफ तेंदुआ शाम ढलते ही घूमता हुआ नजर आया।

 | 
Rajasthan News: राजस्थान की मंडरायल घाटी बेखौफ घूमता हुआ नजर आया तेंदुआ, जनता परेशान 

Rajsthan News : दिनभर की भीषण गर्मी से बेहाल तेंदुआ शाम ढलते ही मंडरायल की घाटी की मुख्य सड़क पर बेखौफ घूमता हुआ नजर आया। देर शाम को घाटी के जखौदा मोड़ पर खुली हवा में तेंदुआ भ्रमण पर निकल कर अपने शिकार की तलाश में घूम रहा था। करौली-मंडरायल मार्ग से बाइक से आने-जाने वाले लोगों में तेंदुआ को देख डर का माहौल सा बना रहता है। तेंदुआ मंडरायल की घाटी में विचरण करने के साथ क्षेत्र में पड़ रही तेज गर्मी में भूखा-प्यासा शिकार की तलाश कर रहा था। 

तेंदुआ का मूवमेंट

रोड पर तेंदुआ को देखकर कई बाइक सवार उसके निकलने के इंतजार में रोड के एक साइड में खड़े हो गए। काफी देर बाद तेंदुआ का मूवमेंट जब घाटी की खाई की तरफ हुआ तो उस के काफी देर बाद बाइक सवार रोड से निकले। तेंदुआ को देखकर मध्यप्रदेश के रामपाड़ी निवासी बाइक सवार अशोक रावत एवं दो अन्य बाइक सवार का कहना था कि मंडरायल घाटी में हिंसक जानवरों से आने-जाने वाले लोगों को भारी खतरा रहता है। मंडरायल घाटी में एक तरफ बाउंड्रीवॉल व लोहे एंगल लगाने चाहिए।

पैंथर, टाइगर, तेंदुआ, भालू, जरख, बघेरा ज्यादातर दिखे जाते हैं 

घाटी में रोड लाइट भी होनी चाहिए जिससे देर शाम तक रोड से निकलने वाले लोगों को खतरा न हो सके। मंडरायल के चैनापुरा मंडरायल की घाटी के निचले मोड़ तक रात 8 बजे बाद पैंथर, टाइगर, तेंदुआ, भालू, जरख, बघेरा के आदि हिंसक जानवर अधिकांश मिल ही जाते है। चारपहिया वाहन चालक को खतरा नहीं है लेकिन बाइक सवारों को खतरा हो सकता है। वन विभाग का कहना है कि जानवर पानी की तलाश में जंगल से निकलते है।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like