home page

राजस्थान की भजनलाल सरकार किसानों को देगी 48 हजार रुपए, नहीं होगा फसलों का नुकसान

Rajasthan  Government Schem : राजस्थान की भजन लाल सरकार ने किसानों को बड़ी खुशखबरी दिया है। किसानों को होने वाले नुकसान से अब बचाव होगा। किसानों की आर्थिक स्थिति काफी मजबूत होगी। 

 | 
राजस्थान की भजनलाल सरकार किसानों को देगी 48 हजार रुपए, नहीं होगा फसलों का नुकसान 

Rajasthan Tarbandi Yojana : राजस्थान के किसानों के लिए बहुत बड़ी अपडेट सामने आ रही है। राजस्थान की भजन लाल सरकार किसानों को 48000 रूपए देगी। सरकार किसानों के लिए खास योजना लेकर आई है। किसानों के खेतों में खेती फसलों को जंगली जानवर और नीलगाय से काफी ज्यादा नुकसान हुआ करता था। अब किसानों को सहायता पहुंचाने के लिए और जानवर और नीलगाय से खेतों की सुरक्षा के लिए तारबंदी पर अनुदान देने की पहल शुरू की है। 

राजस्थान में अब किसानों को अपनी फसलों के नुकसान की चिंता खत्म होने वाली है। किसने की इस दुविधा को दूर करने के लिए भजन लाल सरकार ने एक योजना बनाई है। जिसको तारबंदी योजना का नाम दिया गया है। 

मिलेगा अनुदान

राजस्थान सरकार तारबंदी योजना के तहत अलग-अलग प्रकार से अनुदान दिया जाएगा। राज्य सरकार लघु और सीमांत किसानों को योजना के तहत खेतों में 400 रनिंग मीटर तारबंदी के लिए 60 प्रतिशत यूनिट कॉस्ट या अधिकतम 48,000 रुपये देय है। जबकि अन्य किसानों को यूनिट कॉस्ट का पच्चीस प्रतिशत या कम से कम 40,000 रुपये का अनुदान दिया जा रहा है। सामुदायिक आवेदन में 10 या अधिक किसानों के समूह में न्यूनतम 5 हेक्टेयर में तारबंदी किए जाने पर, प्रत्येक किसान को 400 मीटर तक यूनिट कॉस्ट का 70 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है, जो अधिकतम 56,000 रुपये है।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान के पास कम से कम 1.5 हेक्टेयर कृषि भूमि होनी चाहिए। राज्य सरकार दो या दो से अधिक किसानों के कृषक समूहों को, जिनके पास 1.5 हेक्टेयर से अधिक जमीन है, इससे कम जमीन होने पर भी योजना का फायदा दे सकती है। अनुसूचित जनजाति क्षेत्रों में जोत का आकार छोटा होने के कारण एक ही स्थान पर कम से कम 0.5 हेक्टेयर जमीन होनी चाहिए। 

Tarbandi Yojana में आवेदन पूरी तरह से ऑनलाइन है। किसान राज किसान साथी पोर्टल पर जन आधार या ई-मित्र पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। योजना का लाभ उठाने के लिए खेत का तारबंदी नक्शा, जन आधार कार्ड और आधार कार्ड होना चाहिए।
 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like