home page

Railway : एक ट्रेन टिकट पर करीब डेढ़ महीने तक कर सकते हैं सफर, जान लें रेलवे की ये खास सर्विस

अगर आप अलग-अलग स्‍टेशनों पर टिकट लेते हैं, तो यह महंगा पड़ता हैं. लेकिन सर्कुलर जर्नी टिकट ‘टेलिस्कोपिक रेट्स’ का फायदा देते हैं, जो नियमित पॉइंट टू पॉइंट किराए से काफी कम होते हैं. सर्कुलर जर्नी टिकट किसी भी श्रेणी में यात्रा करने के लिए खरीदे जा सकते हैं.
 | 
Railway: You can travel for about one and a half months on one train ticket, know this special service of Railways

Saral Kisan ( नई दिल्ली ) : भारतीय रेलवे रोजाना लाखों यात्रियों को उनकी मंजिल तक पहुंचाती है. रेलवे की ओर से यात्रियों को कई तरह की सुविधाएं मुहैया कराई जाती है. हालांकि कई यात्री रेलवे की तरफ से मिलने वाली बहुत सी सेवाओं से अनजान हैं. इसी तरह सर्कुलर जर्नी टिकट उन सेवाओं में से एक है जिसके बारे में बहुत कम लोग नहीं जानते हैं.

भारतीय रेलवे की वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक, रेलवे की ओर से सर्कुलर जर्नी टिकट नाम से एक स्पेशल टिकट जारी किया जाता है. इस टिकट के जरिए 56 दिनों तक रेल यात्री एक टिकट पर 8 अलग-अलग स्‍टेशनों से यात्रा कर सकते हैं. इस दौरान कई ट्रेनों में चढ़ सकते हैं. आमतौर पर तीर्थ-यात्रा या दर्शनीय-स्थलों की सैर करने वाले यात्री रेलवे की इस सुविधा का फायदा उठाते हैं.

कम होते हैं किराया

अगर आप अलग-अलग स्‍टेशनों पर टिकट लेते हैं, तो यह महंगा पड़ता हैं. लेकिन सर्कुलर जर्नी टिकट ‘टेलिस्कोपिक रेट्स’ का फायदा देते हैं, जो नियमित पॉइंट टू पॉइंट किराए से काफी कम होते हैं. सर्कुलर जर्नी टिकट किसी भी श्रेणी में यात्रा करने के लिए खरीदे जा सकते हैं.

सर्कुलर जर्नी टिकट का उदाहरण

मान लीजिए कि आपने उत्तर रेलवे से नई दिल्ली से कन्याकुमारी तक सर्कुलर जर्नी टिकट लेते हैं, तो आपकी यात्रा नई दिल्ली से शुरू होगी. यह यात्रा नई दिल्ली पर खत्म होगी. आप मथुरा से मुंबई सेंट्रल, मार्मागोआ, बेंगलुरु सिटी, मैसूर, बेंगलुरु सिटी, उदगमंडलम, तिरुवनंतपुरम सेंट्रल होते हुए कन्याकुमारी पहुंचेंगे और इसी रास्ते से नई दिल्ली वापस आएंगे.

56 दिन की होती है सर्कुलर जर्नी टिकट की वैलिडिटी

सर्कुलर जर्नी टिकट की वैलिडिटी 56 दिन की होती है. सर्कुलर जर्नी टिकट सीधे ही टिकट काउंटर से नहीं खरीद सकते. इसके लिए पहले अप्लाई करना होगा. अपने ट्रेवल रूट की जानकारी आपको मंडल वाणिज्यिक प्रबंधक या कुछ प्रमुख स्टेशनों के स्टेशन प्रबंधकों से शेयर करनी होती है.

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के इस शहर में 238 हेक्टेयर में विकसित हो रही नई कॉलोनी, 5 हजार लोग ले सकेंगे प्लॉट, कॉलोनी के बीच में बनेगी झील

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like