home page

रेलवे विभाग दिव्यांग यात्रियों के लिए देता है सुविधाएं, अधिकतर लोग नहीं जानते

रेलवे नेटवर्क हमारे देश में हर यात्री का पंसदीदा होता हैं। इसी के साथ हम अपको बताने जा रहे हैं कि इंडियन रेलवे यात्रियों को खास सुविधाएं उपलब्ध कराने के प्रयास में रहती हैं। इसी के चलते हम आपको बताने जा रहे हैं कि रेलवे दिव्यांग यात्रियों को ये खास सुविधाएं देता हैं जिससे अधिकतर यात्री अनजान हैं आइए जानते हैं पुरी डिटेल...

 | 
Railway department provides facilities for disabled passengers, most people do not know

railway benefits handicapped: हम लोग सफर या फिर कहीं जाते हैं, तो ज्यादातर हम ट्रेनों का उपयोग करते हैं. वास्तविक रूप से, हमें ट्रेन यात्रा के दौरान कई सुविधाएं प्राप्त होती हैं, लेकिन यदि कोई व्यक्ति दिव्यांग है और उन्हें ट्रेन से सफ़र करना है, तो उन्हें भी भारतीय रेलवे की इस सुविधा का उपयोग करना चाहिए. आइए, आज हम आपको उन सुविधाओं के बारे में बताते हैं जो दिव्यांग यात्रीयों को ट्रेन में उपलब्ध हैं, जिनका लाभ उठा सकते हैं.

जिस व्यक्ति के पैर में कोई खराबी हो या जो हाथ से दिव्यांग है, मानसिक रूप से उसे किसी दिक़्क़त का सामना करना पड़ रहा है या जो व्यक्ति अंधा है, वह यात्रा के समय इन बेहतरीन सुविधाओं का लाभ उठा सकता है. इस तरह के यात्री को ट्रेन में सीट से लेकर टिकट तक में छूट मिलती है, इसके लिए रेलवे ऑफ़िस द्वारा जारी सर्टिफ़िकेट के साथ टिकट फ़ॉर्म भरना होगा.

सीट की सुविधा -

दिव्यांग यात्रियों के लिए सबसे आवश्यक सीट होती है.जानकारी के लिए बता दें कि स्लीपर क्लास में दो लोअर और दो मिडिल बर्थ,एसी-3 में एक लोअर और एक मिडिल बर्थ, 3E कोच में एक लोअर बर्थ और एक मिडिल बर्थ दिव्यांग यात्रियों के लिए होते हैं.

टिकट पर छूट -

वहीं, दिव्यांग यात्रियों को ट्रेन टिकट में भी छूट मिलती है. कहा जाता है कि दिव्यांग यात्री अलग-अलग कोच में 25 प्रतिशत से लेकर 75 प्रतिशत तक की छूट का लाभ उठा सकते हैं. दिव्यांग यात्रियों को स्लीपर क्लास, एसी-3 से लेकर सामान्य क्लास तक में छूट मिलती है. इस छूट का लाभ उठाने के लिए टिकट खरीदते समय, दिव्यांग प्रमाणपत्र दिखाना या आवश्यक जानकारी प्रदान करना आवश्यक होता है.

व्हील चेयर सुविधा -

इसके अलावा, भारतीय रेलवे द्वारा दिव्यांग यात्रीयों को व्हील चेयर की भी सुविधा प्रदान की जाती है. अगर कोई व्यक्ति स्टेशन से ट्रेन तक पहुंचने के लिए व्हील चेयर की मांग करता है, तो स्टेशन द्वारा इसकी सुविधा दी जाती है. व्हील चेयर के संबंधित अधिकारी या स्टेशन मास्टर को सूचित किया जा सकता है. इसके तहत, एक स्टाफ व्हील चेयर के साथ पहुंचता है और यात्री को ट्रेन तक पहुंचाता है. हालांकि, व्हील चेयर स्टाफ को उसका किराया देना पड़ सकता है.

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश में यहां तक बनेगा 16 किमी का नया एक्सप्रेसवे, बिछेगी रेलवे लाइन, लॉजिस्टिक वेयरहाऊसिंग, कार्गो के लिए फायदा

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like