home page

उत्तर प्रदेश में नोएडा-ग्रेनो बीच एक और एक्सप्रेसवे की मिली सौगात, एयरपोर्ट वालें होगें खुश

New Expressway gift to Noida : नोएडा उत्तर प्रदेश का सबसे आधुनिक और विकसित शहर है। ऐसे में नोएडा अथॉरिटी, ग्रेनर नोएडा अथॉरिटी और अन्य सरकारी निकाय नए परियोजनाओं पर अध्ययन करते रहते हैं। ऐसे में स्थानीय लोगों को नया तोहफा देने की योजना बनाई जा रही है।
 | 
Another expressway gifted between Noida-Greno in Uttar Pradesh, airport people will be happy

Saral Kisan : ट्रैफिक व्यवस्था किसी शहर की खुशहाली पर भी कुछ हद तक निर्भर करती है। मास्टर प्लान के तहत बनाई गई सड़कें, फ्लाईओवर और एक्सप्रेसवे से न सिर्फ उस शहर बल्कि आसपास के क्षेत्रों की विकास की गति तेज होती है। हाल ही में नोएडा, या गौतम बुद्ध नगर, को एक अच्छी खबर मिली है। वास्तव में, नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच एक नया राजमार्ग बनाने का काम हाल ही में शुरू हुआ है।

NHAI का विशाल योजना

जब व्यवस्था सही हाथों में होती है, तो सफलता की नई मिसालें बनाना आसान होता है। ऐसे में, नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) ने फ्यूचर की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए इस परियोजना को शुरू करने की योजना बनाई है। नोएडा अथॉरिटी को इस विशेष परियोजना की फिजिबिलिटी रिपोर्ट बनानी है।

किस दिशा में मंथन हो रहा है?

योजना की डीपीआर फाइनल करने से पहले, मौजूदा एक्सप्रेसवे से हटकर यमुना पुश्ता रोड के ऊपर से एक एलिवेटेड रोड बनाया जाएगा। इसके बावजूद, इसके लिए वर्तमान में कितनी जमीन उपलब्ध है और इसे कैसे प्राप्त किया जा सकता है? इस पद पर क्या चुनौतियां आ सकती हैं? नोएडा अथॉरिटी ने सिंचाई विभाग के साथ हाल ही में इस विषय पर चर्चा की है। इस कार्य के लिए अधिकारियों की टीम ने सेक्टर-94 से सेक्टर-135 भी दौरा किया। नोएडा अथॉरिटी से वर्क सर्कल-9 के प्रभारी भी टीम में शामिल हुए। NHAI के अध्यक्ष संतोष यादव भी इस योजना से जुड़ी एक बैठक में उपस्थित थे। अब देखा गया और समझा गया सब कुछ लिखने का काम हो रहा है। पूर्ण रिपोर्ट तकनीकी अध्ययन के लिए भेजी जाएगी।

NHAI का उद्देश्य भी जानें

NHAI इस राजमार्ग को बनाने की योजना बना रहा है। मुख्य उद्देश्य ग्रेटर नोएडा के जेवर में बनने वाले नोएडा इंटरनैशनल एयरपोर्ट को दिल्ली और नोएडा से सीधे कनेक्ट करना है। हाल ही में एनएचएआई ने दिल्ली में नोएडा, ग्रेनो और यमुना अथॉरिटी के अधिकारियों और जिला प्रशासन के साथ एक बैठक की।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के इस शहर में बनाया जाएगा 3.75 किलोमीटर का पहला रोपवे, बनाए जाएंगे 5 स्टेशन, 2024 में पूरा होगा काम

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like