home page

MP News : मध्य प्रदेश के इस जिले में बनेगा एलिवेटेड कॉरिडोर, बनाए जाएंगे 17 नए स्टेशन

Indore News :पिछले साल जब सितंबर में मेट्रो का ट्रायल रन हुआ था, तब लगा था कि इसका कमर्शियल रन साल 2024 में शुरू होगा, लेकिन शहरवासियों को अभी और इंतजार करना पड़ेगा। मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने इसके लिए अब मार्च 2025 का लक्ष्य रखा है।
 | 
MP News : मध्य प्रदेश के  इस जिले में बनेगा एलिवेटेड कॉरिडोर, बनाए जाएंगे 17 नए स्टेशन

Indore News : पिछले साल जब सितंबर में मेट्रो का ट्रायल रन हुआ था, तब लगा था कि इसका कमर्शियल रन साल 2024 में शुरू होगा, लेकिन शहरवासियों को अभी और इंतजार करना पड़ेगा। मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने इसके लिए अब मार्च 2025 का लक्ष्य रखा है। गांधीनगर से टीसीएस चौराहे तक आम आदमी के लिए इस साल सितंबर में ट्रेन शुरू की जा सकती है। 

अधिकारी भी मानते हैं कि इसका कोई मतलब नहीं होगा, क्योंकि इस 6 किमी के रूट पर यात्रियों का मिलना मुश्किल है। अफसरों के बीच चर्चा के दौरान यह बात सामने आई। मेट्रो के ट्रायल रन के दौरान मुख्यमंत्री ने मंच से कहा था कि ट्रेन का कमर्शियल रन जून 2024 में शुरू किया जाएगा। फिलहाल गांधीनगर से रोबोट चौराहे तक 17.5 किमी हिस्से पर एलिवेटेड कॉरिडोर का काम चल रहा है। 

इसमें विधानसभा चुनाव से पहले 6 किमी हिस्से पर ट्रायल रन किया गया था। इस 6 किमी में 5 स्टेशन हैं।  करीब नौ महीने बाद अब अधिकारियों का दावा है कि इन स्टेशनों पर काम लगभग पूरा हो चुका है। पूरे रूट पर 17 स्टेशन होंगे। जिन पांच स्टेशनों के काम को ट्रायल रन के लिए प्राथमिकता दी गई थी, वे भी अभी पूरे नहीं हो पाए हैं। स्टेशन का काम आरवीएनएल के पास है, लेकिन जानकारी के मुताबिक 6 किमी रूट पर ट्रायल रन हो चुका है. इस 6 किमी रूट पर 5 स्टेशन हैं, पूरे रूट पर 17 स्टेशन आएंगे, सभी अधूरे हैं, यहां तक ​​कि कुछ जगहों पर साइट भी साफ नहीं है। 

इसके लिए मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के अधिकारियों ने निगम अधिकारियों से मुलाकात भी की। मेघदूत गार्डन के सामने भी एक स्टेशन बनाया जा रहा है, लेकिन निगम को इसके प्रवेश और निकास के लिए जगह चाहिए। वहां अभी भी चौपाटी है। कुछ दुकानें हटानी पड़ सकती हैं। जितने भी स्टेशन बन रहे हैं, उन पर अभी रंग-रोगन समेत सजावट बाकी है। एटीएम, कैफे समेत अन्य सुविधाओं के लिए प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है। दूसरी ओर अधिकारी इसलिए भी चिंतित हैं, क्योंकि मानसून का आगमन होने वाला है। ऐसे में काम की गति कम हो जाएगी।

नए हिस्से में भी काम नहीं

मेट्रो का नया काम रोबोट चौराहा से पलासिया चौराह के बीच भी होना है। इसका ठेका भी एक कंपनी को सौंप दिया गया है, लेकिन आचार संहिता के कारण भूमिपूजन नहीं होने से निर्माण कार्य अटक गया। इस हिस्से में 530 करोड़ रुपये खर्च होंगे, अब आचार संहिता हटते ही काम ने तेजी से रफ्तार पकड़ ली है, वर्ष 2025 में मार्च तक काम को पूरा कर लिया जाएगा।  

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like