home page

Monsoon : देश के इस हिस्से में पहुंचा मानसून, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और MP में इन तारीखों को देगा दस्तक

अनुमान लगाया जा रहा है, कि अपनी निर्धारित तारीख से पहले मानसून केरल में दस्तक दे सकता है। सामन्यतय केरल में मानसून के पहुंचने की तारीख 1 जून है। लेकिन हमेशा की तरह इससे चार दिन कम या ज्यादा होने की आशंका है। अनुमान के अनुसार 28 मई से 3 जून के बीच कभी भी आ सकता है।
 | 
 देश के इस हिस्से में पहुंचा मानसून, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और MP में इन तारीखों को देगा दस्तक

Monsoon 2024 : देश में बढ़ रही की गर्मी ने लोगों का जीना बेहाल कर रखा है। जिसके चलते लोगों को बारिश का बेसब्री से इंतजार है। इसी बीच भारतीय मौसम विभाग आपके लिए खुशखबरी लेकर आया है। मौसम विभाग ने बताया कि मानसून अंडमान निकोबार पहुंच चुका है और यह 31 मई तक केरल में पहुंच जाएगा। मौसम विभाग ने बताया कि पिछले साल भी मानसून अंडमान निकोबार द्वीप समूह में 19 मई को पहुंच गया। परंतु केरल में 9 दिन की देरी के बाद 8 जून को पहुंचा।

इस बार अनुमान लगाया जा रहा है, कि अपनी निर्धारित तारीख से पहले मानसून केरल में दस्तक दे सकता है। सामन्यतय केरल में मानसून के पहुंचने की तारीख 1 जून है। लेकिन हमेशा की तरह इससे चार दिन कम या ज्यादा होने की आशंका है। अनुमान के अनुसार 28 मई से 3 जून के बीच कभी भी आ सकता है।

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार मानसून मध्य प्रदेश में 16 से 21 जून और राजस्थान में 25 से 6 जुलाई तक पहुंचाने का अनुमान लगाया जा रहा है। दूसरी और उत्तर प्रदेश में 18 से 25 जून और बिहार झारखंड में 18 जून तक पहुंच जाएगा।

 तालिका में राज्यों के हिसाब से तारीखें

केरल  1 से 3 जून 
तमिलनाडु  1 से 5 जून 
आंध्र प्रदेश  4 से 11 जून 
कर्नाटक  3 से 8 जून 
बिहार  13 से 18 जून 
झारखंड  13 से 17 जून 
बंगाल  7 से 13 जून 
छत्तीसगढ़  13 से 17 जून 
गुजरात  19 से 30 जून 
मध्य प्रदेश  16 से 21 जून 
महाराष्ट्र  9 से 16 जून 
गोवा  5 जून 
ओडिशा  11 से 16 जून 
उत्तर प्रदेश  18 से 25 जून 
उत्तराखंड  20 से 28 जून 
हिमाचल प्रदेश  22 जून 
जम्मू / लद्दाख  22 से 29 जून 
दिल्ली  27 जून 
पंजाब  26 जून से 1 जुलाई 
हरियाणा  27 जून से 3 जुलाई 
चंडीगढ़  28 जून 
राजस्थान  25 जून से 6 जुलाई 

 

ला नीना के चलते आ सकती है अच्छी बारिश

जैसा कि हम सभी जानते हैं, हमारी जलवायु के दो पैटर्न होते हैं। अल नीना और ला नीना। पिछले साल अल नीनो सक्रिय था। परंतु इस वर्ष अल नीनो की परिस्थितियों इसी सप्ताह खत्म हो गई है। जिसे अनुमान लगाया जा रहा है कि तीन सप्ताह के अंदर ला नीना की परिस्थितियों पैदा होने वाली है। पिछले साल अल नीनो के कारण सामान्य से कम बारिश हुई थी।

IMD ने दिए अच्छी बारिश के संकेत

भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि देश में इस वर्ष सामान्य से अच्छी बारिश का अनुमान लगाया जा रहा है। मौसम विभाग के अनुसार 104 से 110 फ़ीसदी के बीच की बारिश को सामान्य से अच्छा माना जाता है। क्योंकि भारत में खरीफ की फसलें सामान्य मानसूनी बारिश पर निर्भर करती है और यह फसलों के लिए एक अच्छा संकेत है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार साल 2024 में 106 फीसदी बारिश हो सकती है।
 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like