home page

KTM bike : विदेशों में भारत की इस बाइक के दीवाने हैं विदेशी, सबसे ज्यादा इस मॉडल की डिमांड

New Delhi : कुछ समय पहले भारत की सड़कों पर KTM की बाइक्स आम थीं, जो युवा लोगों को बहुत पसंद आती थीं. लेकिन हाल ही में एक रिपोर्ट आई है कि हमारे देश से ज्यादा विदेशों में इस बिकी की डिमांड है. आइए जानते हैं इसके बारे में।
 | 
KTM bike: Foreigners are crazy about this Indian bike, this model is in highest demand.

Saral Kisan : केटीएम (KTM), एक टू-व्हीलर निर्माता कंपनी, भारत में कम बिक्री करती है और अधिक विदेशों में बिक्री करती है। नवंबर 2023 में, केटीएम ने भारतीय बाजार में 5,287 यूनिट और विदेशी बाजार में 6,454 यूनिट की बिक्री की थी। 2,955 केटीएम (KTM) का लोकप्रिय निर्यात 390 रेंज भारत से बाहर भेजा गया है। कुल निर्यात में 390 रेंज ने 45.79 प्रतिशत योगदान दिया। पिछले वर्ष शिप की गई 1,611 यूनिट्स की तुलना में 390 रेंज ने 83.43% की सालाना वृद्धि दर्ज की। वहीं, एक महीने पहले भेजी गई 2,795 यूनिट्स की तुलना में 5.72% MoM की वृद्धि हुई। सालाना आधार (YoY) पर 1,344 यूनिट्स और मासिक आधार (MoM) पर 160 यूनिट्स का वॉल्यूम गेन इस मॉडल ने किया।

कंपनी ने क्रमशः 250 रेंज और 125 रेंज की 1,247 और 1,234 यूनिट का एक्सपोर्ट किया। 250 रेंज में सालाना आधार पर 155.6% की आश्चर्यजनक वृद्धि के साथ-साथ 37.03% MoM वृद्धि देखी गई, जबकि 125 रेंज में 71.39% सालाना वृद्धि और 83.63% MoM वृद्धि देखी गई।

केटीएम 200 रेंज का निर्यात

केटीएम की 200 रेंज का योगदान 918 यूनिट्स के शिपमेंट के साथ निर्यात बाजार में सबसे कम रहा, जो कि सालाना आधार पर (YoY) 74% की और मासिक आधार पर (MoM) 66.91% गिरावट है। कुल मिलाकर केटीएम का निर्यात 6,454 यूनिट्स का रहा, जो कि केटीएम इंडिया द्वारा घरेलू बाजार में बेचे गए व्हीकल से ज्यादा है। निर्यात में सालाना आधार पर 1.02% की वृद्धि और 29.08% MoM की वृद्धि हुई।

भारत और विदेशी बाजार में किसकी डिमांड?

भारतीय बाजार में केटीएम की 200 रेंज का जलवा रहा, जिसने 21.11% सालाना वृद्धि के साथ नवंबर 2023 में 2,777 यूनिट्स की बिक्री हासिल की और भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाला मॉडल रहा। वहीं, अगर निर्यात की बात करें तो विदेशी बाजार में 390 रेंज का भौकाल कायम रहा, जिसने अकेले 45.79% योगदान दिया। 390 रेंज ने पिछले साल शिप की गई 1,611 यूनिट्स की तुलना में 83.43% की सालाना वृद्धि दर्ज की।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के इस शहर में बनाया जाएगा 3.75 किलोमीटर का पहला रोपवे, बनाए जाएंगे 5 स्टेशन, 2024 में पूरा होगा काम

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like