home page

उत्तर प्रदेश के 104 गांवों में शुरु होगी किसान पाठशाला, किसानों को मिलेगा तगड़ा फायदा

UP Government Scheme : उत्तर प्रदेश में किसानों की प्रगति के लिए सरकार लगातार प्रयासरत हैं। किसानों को प्राकृतिक खेती और मृदा स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देने के लिए किसान पाठशालाओं का आयोजन किया जाएगा। किसान इन पाठशाला में खेती से संबंधित से जुड़ी सभी जानकारी और सरकार की योजनाओं के बारे में जागरूकता मिलेगी। 

 | 
उत्तर प्रदेश के 104 गांवों में शुरु होगी किसान पाठशाला, किसानों को मिलेगा तगड़ा फायदा 

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश में किसानों को जागरूक बनाने के लिए किस पाठशालाओं का आयोजन किया जाएगा। अलीगढ़ कृषि विश्वविद्यालय के निर्देश के अनुसार प्रदेश के सभी जनपदों में कृषि पाठशाला शुरू आज से शुरू की जाएगी। किसान खेती से जुड़ी विभिन्न प्रकार की नई तकनीकी इन कृषि पाठशाला के जरिए सीखेंगे। 

कृषि पाठशालाओं के लिए विभाग के कर्मचारियों की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है। कृषि विभाग के 104 कर्मचारियों को इसकी ड्यूटी सौंपी गई है। 15 पाठशाला में पसंद पैदावार बढ़ाने के साथ-साथ पधारो में फसलों की मांग के अनुसार अपनी पसंद चुनने का तरीका बताया जाएगा। ग्राम स्तर पर इस काम के लिए जोरो सोरों से काम चल रहा है। 

इतने दिन होगा किसान पाठशाला का आयोजन

कृषि पार्सलों का आयोजन स्थाई समय से लेकर 6 जून तक किया जाएगा। किसानों को खेती किसानी के अलावा पशुपालन, नैनो यूरिया का उपयोग, फसल बीमा योजना, कृषि यंत्रों और कृषक उत्पादक संगठनों की जानकारी दी जाएगी। मृदा स्वास्थ्य में सुधार के लिए भी लोगों को जागरूक किया जाएगा। पाठशाला में प्रगतिशील कृषक आमंत्रित हैं। ये किसान अपने अनुभव साझा करके दूसरे किसानों को प्रेरित करेंगे। इसमें पराली प्रबंधन, आपदा प्रबंधन, प्राकृतिक खेती के सिद्धांत, दलहन और तिलहन, मक्का उत्पादन तकनीकी, श्री अन्न का महत्व, उपयोगिता, वर्गीकरण और उत्पादन तकनीकी बताया जाएगा। इसके साथ किसानों के लिए सरकारी योजनाओं की सूचना दी जाएगी।

104 गांवों में लगेगी पाठशाला

यशराज सिंह, उप कृषि निदेशक, ने बताया कि किसानों की पाठशाला दोपहर ढाई बजे से शुरू होगी और शाम साढ़े पांच बजे तक चलेगी। सभी ब्लॉक के गांवों में पचायती भवन में पाठशाला होगी। कृषि विभाग से प्रशिक्षित कर्मचारी पाठशाला में किसानों से बातचीत करके कार्यक्रम शुरू करेंगे। इस अवधि में, कृषि अधिकारी गांवों में भ्रमण करेंगे और पाठशाला की निगरानी करेंगे।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like