home page

MP से बिजली चोरी करके उत्तर प्रदेश में हो रही थी सिंचाई, 12 फीट गिरा नदी का जलस्तर

MP News : मध्य प्रदेश से बिजली चुराकर उत्तर प्रदेश में किसान कर रहें सिंचाई, 2 किलोमीटर लबा बिछाया तारों का जाल। इस गर्मी के बीच आया भीषण जल संकट।

 | 
MP से बिजली चोरी करके उत्तर प्रदेश में हो रही थी सिंचाई, 12 फीट गिरा नदी का जलस्तर

Saral Kisan, MP News : मध्य प्रदेश बिजली विभाग की बिजली चोरी करें  उत्तर प्रदेश में कर रहे सिंचाई। बिजली चोरी करने के लिए बिछाया 2 किलोमीटर लंबा तारों का जाल। मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के बॉर्डर पर आने वाले गांव देवल और खितोसा है। इन गांव में साथी आया भीषण जल संकट वाटर लेवल नीचे जाने के कारण सूखे कुएँ और बोरिंग । इनमें 50 से ज्यादा केन और हेडपंप है जो सुख गए है। गांव से 2 किलोमीटर दूरी पर नरेंल नदी में पानी है परन्तु बहुत कम मात्र में है दिन प्रति दिन नदी का भी पानी घट रहा। नरल नदी दोनों राज्यों के बीच से गुजरती है।

उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले के दबंगों ने नदी में पाइप डालकर पानी की मोटर लगा रखी है। उत्तर प्रदेश के इस इलाके में बिजली नहीं है इसलिए यह दबंग किसान मध्य प्रदेश के कीटोसा गांव से बिजली चोरी कर रहे हैं। बिजली चोरी करके मोटर चलाना गैरकानूनी है। किसानों ने बिजली चोरी करने के लिए 2 किलोमीटर तक गैरकानूनी तारों की लाइन बिछा दी।

यूपी के खेतों में मूंग की फसल बो रखी है और दूसरी और मध्य प्रदेश के लोगों को जरूर तक का पानी नहीं मिल रहा। विभागीय अधिकारी देवेंद्र प्रताप सिंह के द्वारा कहां गया है कि  अगर ऐसा कुछ मामला है तो वह मौके पर जाकर जांच कर कार्रवाई करेंगे।

जो भी दोषी पाया जाएगा उसे पर होगी कार्रवाई

बिजली वितरण निगम कंपनी के अधिकारी आरके शर्मा ने कहा कि यह शिकायत मेरे सामने नहीं आई है वहां तैनात कर्मचारियों ने भी मुझे इस बात की जानकारी नहीं दी। इसलिए मैं खुद जाकर निरीक्षण करूंगा और बिजली चोरी करने वालों के साथ-साथ दोषी कर्मचारियों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

12 फीट नीचे हुआ नदी का जलस्तर

नरेंन नदी में से 24 घंटे पानी उठाने के कारण नदी का जलस्तर  12 फीट नीचे चला गया है। नदी का यह जलस्तर जून में डाउन होता है परंतु इस बार मई में ही गहरा जलसंकट आया। उत्तर प्रदेश से किस आकार ले रहे मध्य प्रदेश में जमीन ठेके पर आपकी वह बिजली और पानी का पूरा प्रयोग कर मुनाफा कमा सके। भूमि का जलस्तर 500 फीट तक नीचे पहुंच गया है।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like