home page

चलती ट्रेन में अगर गिर जाए फोन तो करें यह काम, मिलने के चांस बढ़ जाएंगे

Railway Helpline: अगर चलती ट्रेन से आपका फोन गिर जाता है, तो चेन को कभी भी न खीचें। ऐसा करने पर आपको उल्टा जुर्माना लग सकता है। ऐसी स्थिति में क्या करना चाहिए, इसे पढ़ें।

 | 
If your phone falls in a moving train, do this, your chances of finding it will increase.

Railway Helpline Number: भारत का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। लंबी दूरी की ट्रेनें लोगों को पसंद आती हैं। ऐसे में अगर आपका फोन चलती ट्रेन से गिर जाए तो आप क्या करेंगे? ऐसी स्थिति में बहुत से लोग या तो चुपचाप बैठ जाएंगे या ट्रेन की इमरजेंसी ब्रेक (अलार्म चेन) खींचने की सोचेंगे। नुकसान भरने के लिए इनमें से कोई भी उपाय सही नहीं है। बल्कि, चेन खींचने पर आप पर जुर्माना लग सकता है। ऐसे में प्रश्न उठता है कि फोन को वापस पाने के लिए क्या उपाय हैं अगर चेन नहीं खींच सकते? 

हम आज इस लेख में आपको ट्रेन से गिरा हुआ फोन वापस पाने का तरीका बताने जा रहे हैं। जिससे आप अपना फोन वापस पा सकते हैं। यह भी पुलिस को आपका फोन खोजने में सहायक होगा। जिससे आपके फोन मिलने की संभावना काफी बढ़ जाएगी।

चलती ट्रेन से फोन गिरने पर करें ये

अगर आपका मोबाइल चलती ट्रेन में अचानक गिर जाए तो आपको पहले रेलवे ट्रैक के किनारे लगे हुए पोल पर लिखा हुआ नंबर या साइड ट्रैक का नंबर देखना चाहिए। इसके बाद, किसी अन्य यात्री के फोन की मदद से आरपीएफ और 182 नंबर पर इसकी सूचना दें, ताकि समय बर्बाद न हो। आपको बताना होगा कि आपका फोन किस पोल या ट्रैक नंबर पर गिरा है। रेलवे पुलिस को ये जानकारी मिलने के बाद आपका फोन खोजने में बहुत आसानी होगी और आपका फोन मिलने की संभावना बहुत अधिक होगी। क्योंकि पुलिस तुरंत घटनास्थल पर पहुंच जाएगी। इसके बाद आप रेलवे पुलिस से संपर्क करके कानूनी कार्रवाई करेंगे।

इन नंबरों पर भी मांग सकते हैं मदद

182 ऑल इंडिया सिक्योरिटी हेल्पलाइन नंबर रेलवे प्रोटक्शन फोर्स (RPF) का है। किसी भी समय आप इसे डायल करके मदद मांग सकते हैं। आप भी 1512 डायल करके मदद मांग सकते हैं। यह G.R.P. हेल्पलाइन नंबर है। आप इस नंबर पर फोन करके सुरक्षा की मांग भी कर सकते हैं। रेल में यात्रा करते समय किसी भी तरह की कोई परेशानी होने पर यात्री रेल पैसेंजर हेल्प लाइन नंबर 138 पर डायल करके मदद मांग सकते हैं।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के इस एक्सप्रेसवे के किनारे बसाए जाएंगे 11 औद्योगिक शहर, 29 जिलों की 30 तहसीलों पर बनेगा औद्योगिक गलियारा

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like