home page

हरियाणा - राजस्थान में हीटवेव अलर्ट, पूर्वी भारत में बदलेगा मौसम

Weather update : उत्तर भारत के अधिकतर राज्यों में भयंकर गर्मी ने लोगों का जीना बेहाल कर रखा है। इसी बीच खबर आ रही है कि पूर्वी भारत में गर्मी से राहत मिलेगी। बंगाल की खाड़ी में दबाव कम होने के कारण 24 मई तक तटीय इलाकों में मौसम बदल सकता है। 

 | 
हरियाणा - राजस्थान में हीटवेव अलर्ट, पूर्वी भारत में बदलेगा मौसम

India weather today : उत्तरी भारत में लू और हीट वेव ने लोगों का बुरा हाल कर रखा है। राजस्थान हरियाणा और दिल्ली के अधिकतर हिस्सों में लोग गर्मी से परेशान है। मौसम विभाग की ओर से इन क्षेत्रों में हीटवेव चलने का अलर्ट जारी किया गया है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में हल-चल बढ़ने के कारण पूर्वी भारत में बारिश आने का अनुमान है। साथ ही तूफानी हवाओं के चलने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसका असर बिहार और झारखंड में भी देखा जाएगा। 

दक्षिणी भारत में भी मूसलाधार बारिश का अनुमान लगाया जा रहा है। हरियाणा गुजरात राजस्थान मध्य प्रदेश उड़ीसा जैसे राज्यों में तो लग रहा है जैसे आसमान से आग बरस रही हो। बाड़मेर में तो तापमान 48 डिग्री के पार कर गया है। वही हरियाणा के सिरसा का अधिकतम तापमान 47.7 डिग्री सेल्सियस तक रिकॉर्ड दर्ज किया जा चुका है। इसके साथ-साथ मध्य प्रदेश के रतलाम उत्तर प्रदेश के झांसी में अधिकतम तापमान 45 डिग्री तक रहा। यहां पर लोगों को घर पर रहने की सलाह दी गई है। लो और हीट वेव से बचने के लिए अपने शरीर में पानी की मात्रा को पूरा रखें। हिमाचल के गुण में भी तापमान 43 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया। जिसके चलते लोगों को भीषण गर्मी का एहसास हो रहा है। 

बिहार और यूपी का मौसम 

कई सप्ताह से भीषण गर्मी का सामना कर रहे बिहार के लोगों को राहत मिलने का अनुमान लगाया जा रहा है। मौसम विभाग के अनुसार बिहार के कुछ जिलों में बारिश आने का अनुमान है। बिहार में वीरवार को अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस रहने की उम्मीद लगाई जा रही है। अगर उत्तर प्रदेश की बात करें तो तेज धूप और उमस वाली गर्मी का सामना करना पड़ रहा है। उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलों में हल्के बादल छाए रहते हैं और मैक्सिमम टेंपरेचर 38 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहता है। गंगा नदी से लगते इलाकों में तापमान 40 डिग्री के पार पहुंच गया है। 

बंगाल की खाड़ी का मौसम 

उत्तर भारत के पूर्वी इलाकों में भी भीषण गर्मी का सामना करना पड़ रहा है। उड़ीसा के अनुपवाड़ा में बुधवार को अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। आने वाले थोड़े समय में उड़ीसा में भी मौसम के रुख बदलने का अनुमान लगाया जा रहा है। बंगाल की खाड़ी में दबाव का क्षेत्र बन रहा है जिससे चक्रवर्ती परिसरन का निर्माण होगा। इसके चलते उड़ीसा पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में मौसम परिवर्तन का अनुमान है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार 70 किलोमीटर की रावत रफ्तार से हवा चल सकती है और बारिश का अनुमान है।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like