home page

उत्तर प्रदेश वालों के लिए गुड न्यूज, इस रूट पर भी चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस

Vande Bharat : रेल यात्रियों के सफर को आसान बनाने के लिए रेलवे यूपी के इन रूटों पर वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने जा रहा है। गोरखपुर-लखनऊ वंदेभारत को प्रयागराज तक चलाने के प्रस्ताव को बोर्ड से हरी झंडी मिल चुकी है अब इस पर जल्द ही काम शुरू कर दिया जाएगा।
 | 
Good news for the people of Uttar Pradesh, Vande Bharat Express will also run on this route

Saral Kisan, UP : गोरखपुर-लखनऊ होते हुए प्रयागराज तक वंदेभारत चलाने के प्रस्ताव को बोर्ड की मंजूरी के बाद प्रयागराज के लिए कम दूरी वाले रूट से एक और वंदेभारत चलाने की कवायद शुरू हो गई है।

इसको लेकर परिचालन विभाग ने मंथन शुरू कर दिया है। उम्मीद जताई जा रही है कि दूसरी वंदेभारत गोरखपुर-देवरिया-मऊ होते हुए वाराणसी जाएगी और वहां से प्रयागराज। इस रूट पर वंदे भारत चलने से वाराणसी तक वंदेभारत को चलाए जाने की भी डिमांड पूरी हो जाएगी। इसके साथ ही देवरिया, मऊ, औड़िहार के यात्रियों को भी नई सेवा मिल जाएगी।  

गोरखपुर-लखनऊ वंदेभारत को प्रयागराज तक चलाने के प्रस्ताव को बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद एक सप्ताह के अंदर किसी भी दिन इसका शुभारम्भ किया जा सकता है। बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद ट्रेन के संचालन को लेकर रेलवे प्रशासन ने तैयारी तेज कर दी है। ट्रैक की गति क्षमता बढ़ाने की प्रक्रिया चल रही है। ठहराव और समयसारिणी तय हो गई है।

प्रयागराज में उद्घाटन समारोह को लेकर उत्तर मध्य रेलवे में भी तैयारी चल रही है। संभावना जताई जा रही है कि नई सेवा का शुभारम्भ प्रयागराज से होगा। वंदेभारत चलने के पहले पूर्वोत्तर रेलवे ने अयोध्या व लखनऊ के रास्ते गोरखपुर से प्रयागराज तक चलाने का प्रस्ताव तैयार किया गया था। दिसंबर के दूसरे सप्ताह तक प्रस्ताव बनाकर बोर्ड के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।

सात जुलाई को पीएम ने दिखाई थी हरी झंडी

आठ कोच वाली वंदेभारत को गोरखपुर से लखनऊ के बीच सात जुलाई को पीएम नरेन्द्र मोदी ने गोरखपुर जंक्शन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। तभी से यह ट्रेन रविवार को छोड़ बाकी सभी दिन चलाई जा रही है।

प्रयागराज के लिए गोरखपुर से तीन ट्रेनें है। सुबह दादर, दोपहर में दुर्ग और रात में चौरी-चौरा एक्सप्रेस प्रयागराज तक जाती है। तीनों ट्रेनें अमूमन पैक ही रहती हैं।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के 29 जिलों में 5769 हेक्टेयर जमीन खरीदेगी सरकार, 8000 करोड़ होंगे खर्च

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like