home page

उत्तर प्रदेश के इस जिले में 172 एकड़ जमीन पर बनेगी चार नई टाउनशिप, 40 हजार परिवारों की होगी मौज

UP News : उत्तर प्रदेश के इस जिले को बड़ी आवासीय प्रोजेक्ट योजना की सौगात मिली है। यूपी के इस शहर में चार टाउनशिप को इस प्रोजेक्ट के तहत बनाया जाएगा। टाउनशिप के साथ-साथ लोगों को रोजगार के नए साधन भी उपलब्ध होंगे। 

 | 
उत्तर प्रदेश के इस जिले में 172 एकड़ जमीन पर बनेगी चार नई टाउनशिप, 40 हजार परिवारों की होगी मौज 

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश राज्य विकास के मामले में देश में नंबर वन बनता जा रहा है। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में जनता की भलाई के लिए बड़े-बड़े प्रोजेक्ट बन रहे हैं। बता दें कि यमुना सिटी में एक बहुत बड़ा आवासीय प्रोजेक्ट यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की तरफ से घोषित किया गया है। इस आवासीय प्रोजेक्ट से आसपास के इलाकों के लोगों की मौज होने वाली है। डॉ अरुणवीर सिंह जो प्राधिकरण के मुख्य कार्यपाली अधिकारी हैं उन्होंने बुधवार को यह जानकारी साझा की है। यमुना विकास प्राधिकरण के इस आवासीय प्रोजेक्ट में 30000 नए घर बनाए जाएंगे।

चार टाउनशिप के लिए जमीन तय 

प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि इन चार टाउनशिप के लिए कुल 172 एकड़ जमीन की आवश्यकता होगी। इसमें पहले टाउनशिप के लिए 25 एकड़ जमीन, दूसरी टाउनशिप के लिए 48 एकड़ जमीन, तीसरी टाउनशिप के लिए 33.6 एकड़ जमीन और चौथा भूखंड करीब 55.5 एकड़ में विकसित किया जाएगा। नई नीति इस आवंटन को नियंत्रित करेगी। बिल्डरों को अधिकतम बोली पर जमीन दी जाएगी। इस बारे में बुधवार को प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया। उनका कहना था कि शहर के सेक्टर-22डी में चार टाउनशिप बनाने के लिए बिल्डरों को जमीन दी जाएगी। जमीनो का आवंटन ग्रुप हाउसिंग स्कीम के नियमों के अनुसार होगा।

बनेंगे 30,000 नए घर 

सीएओ नेट जानकारी सांझा करते हुए बताया कि इन नई बनने वाले चार टाउनशिप में लगभग 30000 नए घर बनाए जाएंगे। इन टाउनशिप बनने के बाद यमुना सिटी में रोजगार व विकास की गतिविधियां बहुत तेजी से फैलेंगी। बता दें कि नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास सेक्टर 22d काफ़ी नजदीक होगा।

निवेश और नौकरी के नए अवसर भी पैदा होंगे

सीईओ ने कहा कि यमुना सिटी के विकास में ये तीन आवासीय योजनाएं महत्वपूर्ण होंगी। इन योजनाओं से लगभग 40,000 परिवारों को घर मिलेगा। साथ ही, इससे निवेश और नौकरी के नए अवसर भी पैदा होंगे। विशेषज्ञों का कहना है कि इतने बड़े परियोजनाओं से निर्माण कार्यों में वृद्धि होगी। साथ ही, सेवा क्षेत्र में लोगों को काम मिलेगा। इससे क्षेत्र में बड़ा विकास संभव होगा। इसके लिए भी मजबूत बुनियादी ढांचे की जरूरत होगी। जो प्राधिकरण तेजी से कर रहा है।


 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like