home page

उत्तर प्रदेश में किसानों को बढ़ने का मिलने वाला है बड़ा चांस, इन 6 जिलों में हुई शुरुआत

UP News : अब उत्तर प्रदेश के छह जिलों को खेती-किसानी का बड़ा अवसर मिलने जा रहा है। बरेली, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, रामपुर और मुरादाबाद ये राज्य हैं। योगी सरकार यहां कृषि उद्यमों को शुरू करने जा रही है।
 | 
Farmers are going to get a big chance to grow in Uttar Pradesh, it started in these 6 districts

Agri startups: अब कृषि क्षेत्र में एग्री स्टार्टअप भी यूपी की अर्थव्यवस्था को वन ट्रिलियन डॉलर से ऊपर ले जाएगा। मक्के की हाइटेक खेती से शुरुआत होगी। विश्व बैंक के सहयोगी इंटरनेशनल फाइनेंस कारपोरेशन और कुछ बहुराष्ट्रीय बीज कंपनियों की सहायता से राज्य के छह जिलों बरेली, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, रामपुर और मुरादाबाद में जायद सीजन में धान और मेंथा की जगह मक्के की कामर्शियल खेती की जाएगी।

IFC किसानों को जरूरत के अनुसार आधारभूत संरचनाओं, खासकर मक्के की खरीद के लिए कार्यशील पूंजी उपलब्ध कराएगी. दूसरी ओर, बहुराष्ट्रीय बीज कंपनियां, जैसे कोर्टेवा, बायर और नुजुवुडु मक्का, उन्नत बीज और तकनीकी सहायता प्रदान करेंगे। तैयार उत्पादों को तुरंत खपाने के लिए पशुआहार, मत्स्य आहार, पॉल्ट्री के दाने, स्टार्च और एथेनॉल बनाने वाली कंपनियों से सहयोग किया गया है। ये कंपनियां हर ग्रेड का मकक्का खरीद लेंगी।

विशेष किस्म का बीज महत्वपूर्ण होगा

तीनों बहुराष्ट्रीय बीज कंपनियां किसानों को मक्के का बीज एक विशिष्ट प्रकार का देंगे। इसकी उत्पादकता 70-80 कुंतल प्रति एकड़ है और मौसम इस पर कोई असर नहीं डालता। प्रचंड गर्मी में भी यह कम सिंचाई में अच्छी पैदावार देता है और हर मक्के में पूरे दाने मिलते हैं।

राज्य सरकार भी सहायता करेगी

सूक्ष्म सिंचाई और यंत्रीकरण के माध्यम से सरकार किसानों को मदद करेगी। इसके तहत किसानों को ड्रिप एरिगेशन, स्प्रिंकलर सेट और अन्य कृषि उपकरण मुफ्त में मिलेंगे। साथ ही खाद्य प्रसंस्करण नीति-2023 के अंतर्गत भंडारण और प्रसंस्करण से संबंधित मुद्दों में सरकार की मदद भी होगी।

राज्य सरकार भी सहायता करेगी

सूक्ष्म सिंचाई और यंत्रीकरण के माध्यम से सरकार किसानों को मदद करेगी। इसके तहत किसानों को ड्रिप एरिगेशन, स्प्रिंकलर सेट और अन्य कृषि उपकरण मुफ्त में मिलेंगे। साथ ही खाद्य प्रसंस्करण नीति-2023 के अंतर्गत भंडारण और प्रसंस्करण से संबंधित मुद्दों में सरकार की मदद भी होगी।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश के इस शहर में 238 हेक्टेयर में विकसित हो रही नई कॉलोनी, 5 हजार लोग ले सकेंगे प्लॉट, कॉलोनी के बीच में बनेगी झील

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like