home page

black gram: बादाम से कम नहीं हैं काला चना, अगर सही तरीके से किया डायट में शामिल, मिलेगें जबरदस्त फायदे

स्वास्थ्य के लिए ड्राई फ्रुटुस खरीदना हर किसी के लिए उपयुक्त नहीं होता। इसलिए लोग मुंगफली को सस्ता बादाम कहते हैं। लेकिन हम आपको बताने जा रहे हैं कि काले चने भी बादाम से बेहतर हैं। आइए बताते हैं आपको इससे मिलने वाले फायदे....
 | 
Black gram: Black gram is no less than almonds, if included in the diet properly, you will get tremendous benefits.

Saral Kisan : काले चनों में सभी लाभ होते हैं जो बादाम दे सकता है, इसलिए उन्हें बादाम से बेहतर मानते हैं। बादाम की तरह महंगे नहीं हैं, इसलिए इन्हें हर दिन पानी में भिगोकर खाएं।

काला चना है बेहतरीन दवा -

देसी काला चना सेहत के नजरिए से एक बेहतरीन चीज है। आयुर्वेद के जाने-माने एक्सपर्ट डॉ. अबरार मुल्तानी ने इसे फाइबर्स, कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन्स और मिनरल्स का एक शानदार सोर्स बताया। डॉ. के मुताबिक, बेहद सस्ता होने के कारण गरीब से गरीब इसे खा सकता है और बादाम वाले सारे फायदे पा सकता है। इसे भूनकर, दाल बनाकर, कच्चा और भिगोकर अंकुरित करके खा सकते हैं। मगर पानी मे भिगोकर अंकुरित करके खाना सबसे बेस्ट है।

बस करना है आसान सा काम -

25 से 50 ग्राम चनों को रात में चीनी या कांच की प्याली में पानी डालकर भिगोकर रख दें। अब सुबह उठकर इसे खाली पेट खा लें।

गर्म दूध के साथ खाएं पुरुष -

काला चना पुरुषों की कमजोरी दूर करने के साथ स्पर्म काउंट बढ़ाता है और यौन शक्ति बढ़ाता है। इसके लिए चनों को खाकर ऊपर से गर्म दूध का सेवन भी कि‍या जाता है।

कब्ज का नाम मिट जाएगा -

कब्ज के लिए भारी और गर्म दवाएं खाने की जरूरत नहीं है। अंकुरित चने खाकर भी इसे खत्म किया जा सकता है। इसमें फाइबर होता है, जो आंतों को जाम नहीं होने देता और कब्ज की शिकायत दूर करता है। ध्यान रखें कि यह समस्या बवासीर भी बन सकती है।

चलते रहेंगे बुजुर्गों के जोड़ -

बुजुर्गों के लिए काले चने औषधि से कम नहीं है, यह जोड़ों का दर्द रोकता है। काले चनों के अंदर कैल्शियम होता है, इसलिए इन्हें सीनियर सिटीजन की डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

लिवर लगेगा दौड़ने -

लिवर शरीर के लिए बहुत काम करता है। मगर इसे पीलिया से बचाकर रखना जरूरी है, वरना यह लिवर खराब होने की शुरुआत हो सकती है। ये काम करने के लिए रोज खाली पेट काले चनों को भिगोकर खाएं।

हड्डियों का दोस्त -

बढ़ती उम्र का हड्डियों पर बुरा असर पड़ता है। आपकी बोन्स कमजोर, लचीली और खोखली हो सकती हैं, जिसे ऑस्टियोपोरोसिस कहा जाता है। इस बीमारी से बचने के लिए बच्चों से लेकर बड़ों को रोज चने खाने चाहिए।

खून से लाल रहेगा चेहरा -

देसी काले चनों में आयरन और फॉस्फोरस पाया जाता है, जो हीमोग्लोबीन लेवल को बढ़ाता है। इसे हर रोज खाने से खून की कमी और शरीर की कमजोरी दूर होती है।

मिलेगा घोड़े जैसा स्टेमिना -

सुस्ती और थकान से बचने और लगातार एनर्जी बनाए रखने के लिए आप प्रतिदिन अंकुरित चने खाएं। कुछ ही दिनों में आपको स्टेमिना, ताजगी, ताकत और एनर्जी में तेजी महसूस होने लगेगी। ध्यान रखें कि यह घोड़े की डाइट का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो अपनी फुर्ती और रफ्तार के लिए जाना जाता है।

शुगर की बला भी दूर -

यह खून में शुगर के लेवल को कंट्रोल करता है और शरीर में ग्लूकोज की अतिरिक्त मात्रा को भी कम करने में मदद करता है। इसलिए यह मधुमेह के रोगियों के लिए लाभदायक है।

ये पढ़ें : उत्तर प्रदेश में इन 2 शहरों के बीच में 1162 एकड़ में बनेगा सबसे बड़ा टेक्सटाइल पार्क, 15 जिलों की मौज

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like