home page

उत्तर प्रदेश के इस जिले में यमुना नदी पर बनाया जाएगा नया 4 लेन पुल, एक्सप्रेसवे से कनेक्ट होगा हाईवे

UP News : उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ पलवल राष्ट्रीय राजमार्ग पर यमुना नदी पर बनाया गया अब जर्जर हालत में पहुंच चुका है। अब नए पुल को बनाने का कार्य शुरू किया है। यमुना नदी पर बने अलीगढ़ पलवल राष्ट्रीय राजमार्ग के पुल का बहुत बुरा हाल है। ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे को कुराना से जोड़ने वाला फोर लाइन मार्ग भी बनाया जाएगा।

 | 
उत्तर प्रदेश के इस जिले में यमुना नदी पर बनाया जाएगा नया 4 लेन पुल, एक्सप्रेसवे से कनेक्ट होगा हाईवे

Uttar Pradesh News : राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने इस मार्ग पर टेंडर प्रक्रिया आचार संहिता से पहले ग्रामीणों के लिए अंडरपास और कार्य के लिए खैर-जट्टारी 32 किमी लंबे बाइपास भी शुरू किया था। पहले चरण में बनने वाले बाइपास सहित अन्य कार्यों के टेंडर हो चुके हैं। भूमि अधिग्रहण का कार्य अभी चल रहा है। म्मीद है कि जून महीने तक यहां काम शुरू हो जाएगा.

युमना नदी पर अलीगढ़-पलवल राष्ट्रीय राजमार्ग पर बनाए गए पुल के दिन अब अच्छे दिन आने वाले है।  खस्ता हो चुके इस पल कू अब चकाचक कर दिया जाएगा। आने वाले समय में, जर्जर हो चुके टू लेन पुल को फोरलेन बनाया जाएगा। साथ ही कुराना से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस को जोड़ने वाला एक फोरलेन भी बनाया जाएगा। यह भी नोएडा एक्सप्रेस और कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे को आपस में जोड़ेगा।

कुराना से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस बनने के बाद आसानी से दिल्ली, पंजाब और हरियाणा का सफर किया जा सकेगा। कनेक्टिविटी को भी आसान बनाने के लिए फोरलेन में तब्दील किया जाएगा। इस पर लगभग 650 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यह भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) द्वारा इसके टेंडर आचार संहिता से पहले लगाया गया था। इस मार्ग पर टोल प्लाजा भी प्रस्तावित है.

इस पुल का निर्माण अंग्रेजी शासन काल के समय में हुआ था। जब इस पुल को बनाया गया था तो यह पुल उस समय टू लेन बना था। इस पुल के दोनों तरफ लगाएगी रेलिंग जर्जर हालत में पहुंच चुकी है। इस पुल पर जगह-जगह गड्ढे भी हो चुकी है। जब इस राजमार्ग को फोरलेन मैं तब्दील किया गया उसे समय इस पुल को चौड़ा नहीं किया गया था।

इस राष्ट्रीय राजमार्ग पर 46.39 किलोमीटर के हिस्से का निर्माण करने के लिए करीब और 882 करोड़ की लागत आएगी। दूसरे चरण में, यमुना पर फोरलेन पुल बनाने और कुराना से पूर्वी पेरिफेरल एक्सप्रेस को जोड़ने के लिए लगभग 650 करोड़ रुपये की आवश्यकता होगी। रास्ते में एक टोल टोल भी प्रस्तावित है। इस राष्ट्रीय राजमार्ग पर अभी तक टोल नहीं लगाया गया है।


 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like