home page

Link Expressway : दिल्ली से मुंबई लिंक एक्सप्रेसवे का 80 प्रतिशत निर्माण कार्य पूरा

Delhi-Mumbai Expressway :भारत में एक से एक बढ़कर हाईवे व एक्सप्रेसवे का जाल बिछ रहा है, इन्ही में दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे शामिल है जिसका काम जल्दी पूरा होगा 2 से 3 महीनो के अंदर इस एक्सप्रेसवे पर वाहनों का आवागमन शुरू करने की तैयारी में लगे है अब फरीदाबाद के लोगों को ज्यादा समय इंतजार नहीं करना पड़ेगा। 
 | 
Link Expressway : दिल्ली से मुंबई लिंक एक्सप्रेसवे का 80 प्रतिशत निर्माण कार्य पूरा
Saral Kisan, Delhi-Mumbai Expressway : भारत में एक से एक बढ़कर हाईवे व एक्सप्रेसवे का जाल बिछ रहा है, इन्ही में दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे शामिल है जिसका काम जल्दी पूरा होगा 2 से 3 महीनो के अंदर इस एक्सप्रेसवे पर वाहनों का आवागमन शुरू करने की तैयारी में लगे है अब फरीदाबाद के लोगों को ज्यादा समय इंतजार नहीं करना पड़ेगा, अगर सारा काम समय पर हुआ तो अगस्त महीने तक कि एक्सप्रेसवे को शुरू कर दिया जाएगा। पहले इस एक्सप्रेसवे को मई में शुरू करने की बात कही गई थी परंतु जब अधिकारियों ने इसका निरीक्षण किया तो पता चला कि अभी एक्सप्रेसवे का काम अभी  80 फ़ीसदी पूरा हुआ है। 

इस महीने होनी थी सुरुआत 

बीते वर्ष कैली से लेकर मिंडकौला तक वाहनों का आवागमन शुरू कर दिया गया था। अब दूसरे पैकेज में जैतपुर से होकर सेक्टर-62-65 डिवाइडिंग रोड के जंक्शन तक का काम जोरों पर चल रहा है। फरवरी महीने मे देश के परिवहन मंत्री नितिन गडकरी दौरे पर आए थे तब मई में इस लिंक रोड को शुरू करने की बात कही गई थी, लेकिन कल अधिकारियों निरीक्षण किया तो उसके बाद कहा की अभी 80 फ़ीसदी काम पूरा हुआ है, काम पूरा होने में लगभग दो से तीन महीने का समय लगेगा। डीएस ढेसी इसके बाद जेवर ग्रीफील्ड एक्सप्रेसवे का काम देखने पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि मास्टर प्लान-2031 के अंतर्गत आने वाले सेक्टर-117 से 123 के बीच एलिवेटिड फ्लाईओवर बनाने के लिए जल्द कार्रवाई करें, क्योंकि मूल टेंडर में एलिवेटिड फ्लाईओवर शामिल नहीं था। अब एनएचएआई के अधिकारी इस फाइल को जल्द प्रोसेस कराएंगे, ताकि इसका टेंडर लगाकर एलिवेटिड का काम शुरू कराया जा सके।

इस महीने मिल जाएगा मिर्जापुर सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट

प्रिंसिपल सेक्रेटरी ने कल दोपहर बाद नगर निगम तहत बनाए जा रहे मिर्जापुर सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का भी दौरा किया। उन्होंने 80 MLD क्षमता वाले STP के कार्य प्रोसेस को देखा। अधिकारियों ने बताया कि एसटीपी का ट्रायल रन शुरू कर दिया गया है। फिलहाल 30 एमएलडी पानी को 10 बीओडी तक ट्रीट किया जा रहा है। केवल प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड से कंसंट टू ऑपरेट का सार्टिफिकेट लेना है। डीएस ढेसी ने कहा कि जल्द कागजी कार्रवाई पूरी कर जून में इसे पूरी तरह से चालू किया जाए। इसके बाद वह बड़खल झील का काम देखने गए, जहां पर वह झील का काम देखकर संतुष्ट हुए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि झील को पानी से भरने के लिए लिए तेजी से काम करें। इस मौके पर एफएमडीए के अडिशनल सीईओ पार्थ गुप्ता, एचएसवीपी के एसई संदीप दहिया, चीफ इंजीनियर रमेश बागड़ी, चीफ टाउन प्लानर सुधीर चौहान मौजूद थे।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like