home page

उत्तर प्रदेश में बिछ रहा 594 किलोमीटर लंबा एक्‍सप्रेसवे, 518 गावों से गुजरेगा

UP News :भारत देश के राज्य उत्तर प्रदेश में सबसे ज्‍यादा एक्‍सप्रेसवे है. 9 इन्ही में पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे  यूपी का सबसे लंबा एक्‍सप्रेसवे है यह भारत का तीसरा सबसे लंबा एक्‍सप्रेसवे है. वर्ष 2025 तक इस से यह नाम छिन जाएगा और गंगा एक्‍सप्रेसवे के नाम यह रिकार्ड हो जाएगा इसको गंगा एक्‍सप्रेसवे के नाम से जाना जाएगा .
 | 
उत्तर प्रदेश में बिछ रहा 594 किलोमीटर लंबा एक्‍सप्रेसवे, 518 गावों से गुजरेगा
The Chopal, UP News : भारत देश के राज्य उत्तर प्रदेश में सबसे ज्‍यादा एक्‍सप्रेसवे है. 9 इन्ही में पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे  यूपी का सबसे लंबा एक्‍सप्रेसवे है यह भारत का तीसरा सबसे लंबा एक्‍सप्रेसवे है. वर्ष 2025 तक इस से यह नाम छिन जाएगा और गंगा एक्‍सप्रेसवे के नाम यह रिकार्ड हो जाएगा इसको गंगा एक्‍सप्रेसवे के नाम से जाना जाएगा . गंगा एक्‍सप्रेसवे का निर्माण कार्य जोरों पर चल रहा है  कुंभ मेले से पहले इस एक्‍सप्रेसवे के पूरी तरह चालू कर देगे . यह 594 किलोमीटर एक्‍सप्रेसवे उत्तर प्रदेश के 12 जिलों के 518 गांवों से होकर गुजरेगा.इन 518 गाव के लोगों की हुई मोज, गंगा एक्‍सप्रेसवे मेरठ-बुलंदशहर हाईवे पर बिजौली गांव से शुरू होकर प्रयागराज में एनएच 19 पर जुदापुर दादू गांव के पास खत्म होगा.

यूपी सरकार ने इसे बना रहे डेवलपर उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण को दिसंबर तक निर्माण कार्य पूरा करने का आदेश दिया है. सीएम योगी ने वर्ष 2019 में कुंभ मेले के दौरान गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण की घोषणा की थी. योगी चाहते हैं कि यह एक्सप्रेसवे आने वाले साल 2025 के  महाकुंभ से पहले चालू हो जाए. कुंभ अगले साल 14 जनवरी से शुरू हो रहा है.

मेरठ से प्रयागराज पहुंचने में लगेंगे 6 घंटे

अब लोगों को गंगा एक्सप्रेसवे के बन जाने के बाद मेरठ से प्रयागराज तक का सफर सिर्फ 6 घंटे में तय किया जा सकेगा. इस एक्‍सप्रेसवे पर कारें 120 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ेंगी. अभी यह 6 लेन का एक्सप्रेसवे है लेकिन इसे जरूरत पड़ने पर 8 लेन तक चौड़ा किया जा सकता है.

गंगा एक्‍सप्रेसवे रूट

पश्चिम से पूर्व की ओर जा रहे लोगों के लिए इसकी शुरुआत मेरठ से होगी. मेरठ के बाद ये हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ से होता हुआ प्रयागराज पर खत्म होगा. गंगा एक्सप्रेसवे का निर्माण भी 12 चरणों में ही किया जा रहा है. इस प्रोजेक्ट पर 36,000 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है.

उतर सकेंगे फाइटर प्‍लेन

गंगा एक्‍सप्रेसवे पर न केवल गाडियां दौडेंगी, बल्कि आपात स्थिति में बड़े फाइटर प्‍लेन और हेलीकॉप्‍टर भी इस पर उतर सकेंगे. शाहजहांपुर में 3.50 किलोमीटर लंबी हवाई पट्टी बनाई जा रही है. इसके अलावा गंगा और रामगंगा नदियों पर दो बड़े पुलों का निर्माण भी किया जा रहा है. गंगा एक्‍सप्रेसवे लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे और बलिया लिंक एक्सप्रेसवे के जरिए राज्य के अन्य एक्सप्रेसवे को भी जोड़ेगा.

भारत का तीसरा सबसे लंबा एक्‍सप्रेसवे

गंगा एक्सप्रेसवे लंबाई के मामले में भारत का तीसरा सबसे लंबा एक्सप्रेसवे बनने वाला है. अभी जो सबसे लंबा एक्सप्रेसवे बन रहा है वो दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे है, जो 1,350 किलोमीटर से भी ज्यादा लंबा है. दूसरा सबसे लंबा मुंबई-नागपुर एक्सप्रेसवे है जो 700 किलोमीटर से थोड़ा ज्यादा लंबा है.

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like