home page

Bihar में बनेगा 416 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेसवे, इन 6 जिलों से गुजरेगा, शुरू होगा जमीन अधिग्रहण

Bihar News : भारत वाला प्रोजेक्ट के तहत ग्रीन फील्ड एक्सप्रेसवे बनाया जा रहा है। इसे बनाने के लिए विभाग की ओर से प्रक्रिया तेज कर दी गई है। यह ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे 519 किलोमीटर लंबा होगा। जिसका 416.2 किलोमीटर का हिस्सा बिहार में आने वाला है। पश्चिमी चंपारण में यह है सड़क 33.4 किलोमीटर लंबी होगी। 

 | 
Bihar में बनेगा 416 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेसवे, इन 6 जिलों से गुजरेगा, शुरू होगा जमीन अधिग्रहण

Bihar Latest News : गोरखपुर से सिलीगुड़ी तक 6 और 8 लाइन सड़क बनाई जाएगी। जिस पर लड़ाकू जहाज आराम से उतारे जा सके। बिहार के किशनगंज में बांग्लादेश से 20 किलोमीटर दूर और पश्चिम में चंपारण में चीन से 200 किलोमीटर दूर यह सड़क बनाई जाएगी। इस सड़क पर लड़ाकू जहाज उतारे जा सकेंगे। जिससे इसे अहम स्थान दिया जा रहा है। 

रूपरेखा तैयार 

दिल्ली में हुई बैठक के बाद इस सड़क से जुड़ी पूरी रूपरेखा तैयार कर ली गई है। बताया जा रहा है की बारिश के मौसम के बाद अधिग्रहण का काम शुरू किया जाएगा। भूमि अधिग्रहण होने के बाद एजेंसी का चयन करके सड़क निर्माण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। 

इस एक्सप्रेसवे के तैयार होने के बाद गोरखपुर से सिलीगुड़ी की दूरी 519 किलोमीटर रह जाएगी। सड़क बनने के बाद सफर का समय 18 घंटे से 9 घंटे हो जाएगा। सड़क का 416.2 किलोमीटर हिस्सा बिहार से होकर गुजरेगा। बिहार के 6 जिलों से होकर गुजरेगी यह सड़क। जिसका 33.4 किलोमीटर हिस्सा पश्चिमी चंपारण जिले से होकर गुजरेगा। 

दिल्ली में हुई अप्रैल की बैठक के बाद अलॉटमेंट में भी कई बदलाव किए गए हैं। पहले इस सड़क पर कई नेशनल हाईवे टच कर रहे थे, लेकिन अब यह पूरी तरह ग्रीन फील्ड एक्सप्रेसवे होगा।  सड़क के ऊपर न के बराबर एंट्री पॉइंट बनाए जाएंगे। 

ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे का निर्माण होने के बाद उत्तर प्रदेश बिहार सहित लोगों की दिल्ली से कनेक्टिविटी बढ़ेगी। इस सड़क का निर्माण उत्तर प्रदेश में 84.8 किलोमीटर, बिहार में 416.20 किलोमीटर, 18.97 किलोमीटर पश्चिम बंगाल में किया जाएगा। 

बिहार में होगी कितनी लंबाई 

बिहार में पूरे हाईवे का 416.20 किलोमीटर हिस्सा होगा। जिसमें से मुख्यतः यह सड़क पूर्वी चंपारण में  72.5 किलोमीटर, सीता मंडी में 42.7 किलोमीटर, शिवहर में 24.8 किलोमीटर, सुपौल में 37, अररिया में 48.5 किलोमीटर, किशनगंज में 63.2 किलोमीटर लंबी बनाई जाएगी। इस सड़क की सबसे अधिक लंबाई मधुबनी जिले में 94 किलोमीटर होगी। स्क्रीन फील्ड एक्सप्रेसवे के निर्माण में करीबन 3160 रुपए का खर्च आने की उम्मीद है। 

क्या बोले अधिकारी 

इस बारे में जब NHAI के परियोजना निदेशक अमरेस शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि सड़क का एरियल सर्वे शुरू किया जा चुका है। बारिश के मौसम के बाद जमीन अधिग्रहण का काम शुरू होने का अनुमान लगाया जा रहा है। जमीन का अधिकरण होने के बाद एमसी का चयन करके निर्माण शुरू कर दिया जाएगा

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like