home page

उत्तर प्रदेश के 14 गांव को चीरती हुई जाएगी नई रेलवे लाइन, 18 सालों का इंतजार हुआ खत्म

Deoband-Roorkee Railway Line : दिल्ली से हरिद्वार तक का सफर आसान और सुहाना होने वाला है। दिल्ली से हरिद्वार का सफर आरामदायक और पॉकेट फ्रेंडली होगा। देवबंद रुड़की रेलवे लाइन का इंतजार 18 सालों से किया जा रहा है। यह रेलवे लाइन उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के 25 गांव से गुजरेगी। रेलवे लाइन के आसपास लगते गांव के लोगों को तगड़ा फायदा होने वाला है। किसानों की जमीन अधिग्रहण की जाएगी। 

 | 
उत्तर प्रदेश के 14 गांव को चीरती हुई जाएगी नई रेलवे लाइन, 18 सालों का इंतजार हुआ खत्म

Uttar Pradesh News : देवबंद रुड़की रेलवे लाइन का इंतजार काफी सालों से किया जा रहा है। इस रेलवे लाइन के निर्माण कार्य में पिछले पांच महीना में काफी तेजी आई है। इसी साल के अंत में इसका निर्माण कार्य पूरा होने की संभावना है। इस रेलवे लाइन पर ट्रेनों के दौड़ते ही दिल्ली से हरिद्वार का सफर एक घंटा कम हो जाएगा। आज से 18 साल पहले इस देवबंद रुड़की रेलवे लाइन की घोषणा हुई थी। घोषणा होने के बाद कई सालों तक तो इस रेलवे लाइन का निर्माण कार्य शुरू ही नहीं हुआ। बाद में करोना महामारी के चलते इसका काम बाधित हुआ। 

होगी 137 हेक्टेयर जमीन किसानों की अधिग्रहण

उत्तर प्रदेश में यह रेलवे लाइन 17 किलोमीटर तक गुजरेगी। यह रेलवे लाइन उत्तराखंड में 10 किलोमीटर लंबी होगी। उत्तर प्रदेश में यह रेलवे लाइन 14 गांव से होकर गुजरेगी। उत्तर प्रदेश में इस रेलवे लाइन के लिए 86.26 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया गया है। उत्तराखंड में हरिद्वार के 11 गांव की 51 हेक्टेयर जमीन किसानों की अधिग्रहण की गई है। उत्तर प्रदेश में जाटौल, मंझौल जबरदस्तपुर, नियामत, बंहेड़ा खास, माजरी, साल्हापुर, राजपुर उर्फ रामपुर, दुनीचंदपुर, असदपुर करंजाली, चकरामबाडी, दिवालहेड़ी, नूरपुर और देवबंद हदूद के किसानों की जमीन अधिग्रहण की गई हैं। 

सफर होगा 33 किलोमीटर तक कम

दिल्ली से रुड़की तक की दूरी इस रेलवे लाइन बनने के बाद 33 किलोमीटर तक कम हो जाएगी। अभी ट्रेनों का संचालन रुड़की वाया टपरी किया जा रहा था। इस लाइन का निर्माण होने के बाद ट्रेन देवबंद से सीधी रुड़की जाएगी। देवबंद रुड़की रेलवे लाइन से मुख्य रेल मार्ग का यातायात दबाव भी काम हो जाएगा।

बचेगा एक घंटा

दिल्ली से हरिद्वार ट्रेन अभी मुजफ्फरनगर, टपरी या सहारनपुर जाती है। टपरी और सहारनपुर मुख्य रेलवे स्टेशन हैं। इस मार्ग पर बहुत घुमाव है। इसलिए ट्रेन यहां धीमी गति से चलती है। देवबंद से टपरी की दूरी 60 किमी है और सहारनपुर से 76 किमी है। यह दूरी ट्रेन लगभग सवा दो घंटे में तय करती है। देवबंद रेलवे स्टेशन से रुड़की तक सीधा रेलमार्ग बनाने से ट्रेन की स्पीड बढ़ेगी और दूरी 27.45 किलोमीटर कम होगी। इसलिए दिल्ली से हरिद्वार जाने में लगभग एक घंटा कम लगेगा। इससे दिल्ली से देहरादून जाने में भी समय बचेगा।
 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like