home page

हरियाणा में बिछेगी 126 किलोमीटर लंबी नई रेल लाइन, बनेंगे 15 नए रेलवे स्टेशन, 5 जिलों को लाभ

Haryana Orbital Rail Corridor : दिल्ली एनसीआर में ट्रैफिक इतना ज्यादा बढ़ गया है कि लोगों को कई घंटे लंबे जाम में गुजारने पड़ते है। सरकार नई-नई तकनीक के जरिए दिल्ली से ट्रैफिक जाम को कम करना चाहती हैं। इसके लिए दिल्ली के आसपास लगते इलाकों में एक्सप्रेसवे, मेट्रो, रेलवे और हाईवे बनाए जा रहे हैं। इसी के चलते हरियाणा में ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर बनाने का प्लान बनाया जा रहा है। 

 | 
हरियाणा में बिछेगी 126 किलोमीटर लंबी नई रेल लाइन, बनेंगे 15 नए रेलवे स्टेशन, 5 जिलों को लाभ

Haryana News : दिल्ली एनसीआर में ट्रैफिक इतना ज्यादा बढ़ गया है कि लोगों को कई घंटे लंबे जाम में गुजारने पड़ते है। इससे आम जनता को ट्रैफिक से राहत मिलेगी और मानेसर सहित कई शहरों के लोगों को तगड़ा फायदा होगा। यह रेलवे ऑर्बिटल कॉरिडोर मानेसर, पलवल और सोनीपत के बीच बनाया जा रहा है। फाइनेंशियल एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड ने ये प्रोजेक्ट तैयार करने का प्लान बनाया है। इस प्रोजेक्ट का क्षेत्र है धुलावत से  बदाशाह तक बनाया जाएगा। 29.5 किलोमीटर का यह इलेक्ट्रिक डबल ट्रैक रेलवे लाइन नूंह से होते हुए हरियाणा के 5 जिलों से होकर गुजरेगा।  

कहां और कब बनेंगे स्टेशन 

हरियाणा में बनाए जाने जा रहे ऑर्बिटल कॉरिडोर पर सोनीपत से तुर्कपुर के बीच स्टेशन बनाएं जाएंगे। किसके साथ-साथ कई गांव खरखोदा, जसौर खेड़ी, मांडोठी, बादली, देवर खाना, बढ़शा, न्यू पतली, पंचगांव, आईएमटी मानेसर चांदला डूंगरवास, धुलावट, सोहना, सिलानी और न्यू पलवल में भी स्टेशन बनाए जाएंगे। 

क्या होगा हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर में खास

जानकारी के अनुसार बता दें कि हरियाणा रेल ऑर्बिटल कॉरिडोर बनने के बाद मालगाड़ियों से प्रतिदिन 5 करोड़ टन माल की धुलाई की जा सकेगी। इस रेलवे ट्रैक 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली ट्रेन चल सकेगी। कॉरिडोर के बीच में दो टनल बनेगी जहां से डबल स्टॉक कंटेनर भी आसानी से निकल सकेंगे। दोनों टनल की लंबाई करीबन 4.7 किलोमीटर और ऊंचाई 11 मीटर के साथ चौड़ाई 10 मीटर होगी। 

केएमपी एक्सप्रेसवे के साथ रेलवे ऑर्बिटल कॉरिडोर को विकसित किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट की कुल लंबाई 126 किलोमीटर की होगी। जो पलवल के रेलवे स्टेशन से लेकर सोनीपत में अर्चना कला रेलवे स्टेशन तक होगा। इस प्रोजेक्ट से हरियाणा के पांच जिलों को सीधा फायदा होगा। इस प्रोजेक्ट से सीधे 5 जिलों पलवल, गुरुग्राम, नूंह, झज्जर और सोनीपत को सीधा फायदा होगा. 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like