home page

पड़ रही भीषण गर्मी से हल्दी उत्पादन को नुकसान की आशंका

Turmeric Production :पूरे भारत में पड़ रही भीषण गर्मी के कारण हल्दी उत्पादन को नुकसान पहुंचने का खतरा है। इससे आपूर्ति की कमी बढ़ती है और संभावित रूप से समर्थन मूल्य में भी बढ़ोतरी होती है।
 | 
पड़ रही भीषण गर्मी से हल्दी उत्पादन को नुकसान की आशंका 

Turmeric Production : पूरे भारत में पड़ रही भीषण गर्मी के कारण हल्दी उत्पादन को नुकसान पहुंचने का खतरा है। इससे आपूर्ति की कमी बढ़ती है और संभावित रूप से समर्थन मूल्य में भी बढ़ोतरी होती है।  कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के अनुसार, 2023-24 में हल्दी का उत्पादन 10.74 लाख टन रहने का अनुमान है, जो पिछले साल के 11.30 लाख टन से कम है। अप्रैल-मार्च 2024 के दौरान हल्दी के निर्यात में पिछले साल के मुकाबले 4.75 फीसदी की गिरावट आई है, जबकि इसी अवधि में आयात में 12.71 फीसदी की गिरावट आई है। 

इस सीजन में गुजरात और राजस्थान में खेती क्षेत्रफल में पर्याप्त वृद्धि के कारण जीरे का उत्पादन 30 फीसदी बढ़कर 8.5 से 9 लाख टन होने का अनुमान है। वैश्विक स्तर पर जीरे के उत्पादन में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। खास तौर पर चीन, सीरिया, तुर्की और अफगानिस्तान में अच्छे उत्पादन से कीमतों पर दबाव कम होगा। किसानों ने बेहतर कीमतों की उम्मीद में स्टॉक को बनाए रखकर कीमतों को और सपोर्ट किया। गुजरात में रिकॉर्ड 4.08 लाख टन जीरे का उत्पादन होने का अनुमान है, जबकि राजस्थान का उत्पादन भी काफी बढ़ा है।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like