home page

पारंपरिक खेती के आलावा लगाए ये सब्जियाँ, किसानों को मिलेगा बड़ा उत्पादन

Cultivation Of Vegetables : परंपरागत खेती को छोड़कर किसान कर रहे सब्जी की खेती. सब्जी की खेती करके किस काम रहे अच्छा मुनाफा। वैसे सब्जी की खेती एक नगदी फसल मानी जाती है।

 | 
पारंपरिक खेती के आलावा लगाए ये सब्जियाँ, किसानों को मिलेगा बड़ा उत्पादन

Cultivation Of Vegetables : किसान जितना परंपरागत खेती में नहीं कमा रहा उससे अधिक मुनाफा सब्जी की खेती में कमा रहे। परंपरागत खेती में लागत अधिक होती है और पैदावार कम। बढ़िया मुनाफे को ध्यान में रखते हुए किसान सब्जी की खेती की तरफ काफी बढ़ रहे हैं। अलग-अलग सीजन की सब्जी की खेती के लिए किसानों को सरकार की तरफ से अनुदान भी दिया जाता है।

कृषि वैज्ञानिको का कहना है की किसान टमाटर, फूलगोभी, पत्ता गोभी, करेला लौकी, तोरु, मिर्च, भिंडी जैसी सब्जी की फसल अपने खेत में ऊगा सकते सकते हैं।

राष्ट्रीय उद्यान विभाग द्वारा किसानों को सब्जियों की खेती करने के लिए पर हेक्टेयर 20 हजार रूपए तक सब्सिडी दी जाती है, और फसल को रोग से बचने के लिए, किसानों को समय-समय पर कीटनाशक छिड़काव के लिए जानकारी देते रहते हैं।किसान सब्जी की खेती में मुनाफा कमाएं और उनकी पैदावार बढ़ा सकें. इसके लिए किसानों को रासायनिक खाद के बजाय गोबर की खाद का प्रयोग करना चाहिए. प्रति हेक्टेयर 30 से 40 किलो गोबर की खाद का प्रयोग करने से किसानों बंपर फायदा मिलेगा.

सब्जी की खेती में किसानों को अनुदान का लाभ लेने के अपने आधार कार्ड, बैंक पासबुक, खतौनी, निवास प्रमाण पत्र देना होगा. जिसके प्रमाणित होने के बाद भी किसानों को अनुदान का लाभ दिया जाएगा. किसानों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर अनुदान का लाभ दिया जाएगा. किसानों को पंजीकरण के लिए जागरूक किया जा रहा है. जो भी किसान पंजीकरण करेंगे, उनके आवेदन पत्र की जांच कर अनुदान दिया जाएगा

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like